गुरुवार, 13 दिसंबर 2012

बीकानेर-जूनागढ़ किले के संग्रहालय में अनमोल चित्रकारी व शस्त्रों का जखीरा Bikaner-The great painting and old weapon in Junagarh fort


आज आपको बीकानेर के जूनागढ़ किले के अन्दरुनी हिस्से में बनाई गयी अनमोल व लाजवाब पेंटिंग दिखाई जा रही है। आप इन्हें जरा  कुछ ज्यादा ही ध्यान से देखना, क्योंकि इन्हें बने हुए काफ़ी समय बीत चुका है, आज भी देखते समय यह ऐसी लगती है जैसे यह कल की बनी हुई चित्रकारी है। आपको भूमिका में ज्यादा लम्बा ना उलझाते हुए नीचे आपको ढ़ेर सारे चित्र दिखा रहा हूँ। आप चित्र देखिए।













झूला झूलना है।

यह छोटा सा पलंग यहाँ के राजा का है।


राज परिवार का राज चिन्ह




पहले ऐसे ही पंखे होते थे या इसको कुछ हुआ है।

चित्रों के बाद बारी आती है हथियारों की, क्योंकि शस्त्र बिना राज नहीं किया जाता है। अत: आज ही नहीं पहले के समय से ही राजा-महाराजा नये-नये हथियार अपने यहाँ रखा करते थे ताकि उनकी सेना अपने सैनिक को इन हथियार देकर आसानी से दूसरों पर विजय पा सके।








तरह-तरह के तीर कमान

आजादी से पहले का एक चित्र सब कुछ बता रहा है।




यह जो जहाज दिखाई दे रहा है इसे यहाँ की फ़ौज ने अंग्रेजों की ओर से लड़ते हुए जर्मनी से छीना था। 


अच्छा दोस्तों अब यहाँ से आगे चलते है। यहाँ केवल इतना ही था, अभी बीकानेर में बहुत कुछ बाकि है वो देखना है कि नहीं।




राजस्थान यात्रा-

बीकानेर- 2 जूनागढ़ किला
बीकानेर- 8 कुछ अन्य शानदार होटल
बीकानेर- 9 रायसर रेत के टीलों पर एक रंगीन सुहानी मदहोश नशीली शाम दिल्ली वापसी


11 टिप्‍पणियां:

संजय @ मो सम कौन ? ने कहा…

जरूर देखना है भाई, बीकानेर है कोई मामूली जगह थोड़े ही न है।

विनोद सैनी ने कहा…

बहुत सुन्‍दर यात्रा ब्रतान्‍त
युनिक तकनीकी ब्लाग

Prakash ने कहा…

वाकई, आजादी से पहले भी लक्स का विज्ञापन आता था....

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा 14/12/12,कल के चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका हार्दिक स्वागत है

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

अद्भुत रंग और चित्रण..

Arti ने कहा…

Kitne sundar chitra! Kalakritian kitni manmohak hain. Jab mein Karni Mata Mandir gayi thi, yeh kila hum nahi ja paye the.

संदीप पवाँर (Jatdevta) ने कहा…

प्रकाश भाई देख लो आता था, कहते है लक्स के विज्ञापन में हमेशा से उस दौर की टॉप महिला का फ़ोटॊ लगता आया है।

संदीप पवाँर (Jatdevta) ने कहा…

आरती जी आपने यह किला ना देखकर बहुत कुछ मिस कर दिया है जब भी मौका लगे यहाँ जरुर जाना।

संदीप पवाँर (Jatdevta) ने कहा…

संजय भाई जरुर दिखायेंगे।

RITESH GUPTA ने कहा…

जूनागढ़ के किले का संग्राहालय तो बड़ा ही अजब और इतिहासिक सामग्री से भरपूर हैं...| बीकानेर संग्राहालय की अच्छी चित्रावली संदीप भाई....|
एक जूनागढ़ गुजरात में भी तो हैं.....?

Vishal Rathod ने कहा…

यह किला देखने लायक है . इसे मैं मिस नहीं कर सकता . आपकी पोस्ट धन्य है . के साक्षात ऐसे दर्शन कराये.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...