गुरुवार, 26 सितंबर 2013

Tourist places in Indian States भारतीय राज्यों के पर्य़टक स्थल

भारत के सभी राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य-मुख्य दर्शनीय/पर्यटक स्थल का विवरण नीचे दिया गया है। 
यहाँ जो सूची दी गयी है यह सभी स्थल मेरे निशाने पर है। वैसे इनमें से बहुत सारे तो देख लिये गये है। धीरे-धीरे बाकि भी देख लिये जायेंगे।

दिल्ली भारतीय गणतंत्र की राजधानी है।  यहाँ देखने लायक स्थल है, लाल किला, तुगलकाबाद किला, पुराना किला, कुतुब मीनार, जन्तर मन्तर, इन्डिया गेट, राष्ट्रपति भवनसंसद भवन, बिरला मन्दिर(लक्ष्मी नारायण मन्दिर) अक्षरधाम मन्दिर, कमल (लोटस lotus) का मन्दिर, लोधी गार्ड़न, हुमायूँ का मकबरा, सफ़दरजंग का मकबराराजघाट,  किसान घाट, विजय घाट, शक्ति स्थल, वीरभूमि, शांति वन, रेल संग्रहालय, प्रगति मैदान, चिडियाघर प्रमुख है। इसके अलावा और भी बहुत से स्थल है लेकिन यह ज्यादा पोपुलर है।

पृथ्वीराज चौहान का किला, कुरुक्षेत्र महाभारत की लड़ाई का मैदान, पिंजौर गार्ड़न, रजिया सुल्तान की कब्र, पंचकुला का रामगढ़ किला।

हिमाचल में मनाली, शिमला, कुफ़री, पालमपुर, धर्मशाला कसौली, चम्बा, ड़लहौजी, खजियार, मैक्लोड़गंज, कुल्लू, मनाली, कालका शिमला ट्राय ट्रेन, लाहौल-स्पीति, रोहताँग दर्रा, कुंजुम दर्रा, बारालाचा दर्रा ही अत्यधिक जाने पहचाने नाम है जबकि इनके अलावा भी यहाँ बहुत सारे स्थल, ट्रेकिंग व लम्बी बाईकिंग वाले मार्ग आपका इन्तजार कर रहे है।

यहाँ अमरनाथ यात्रा व वैष्णों देवी यात्रा, शिव खोड़ी गुफ़ा, बाहू किला जरुर देखे।
श्रीनगर की ड़ल झील, पहलगाम, सोनमर्ग, गुलमर्ग, मुगल गार्ड़नदाचीगम राष्ट्रीय उदयान आदि देखने लायक है।
इसके अलावा लेह क्षेत्र में पैंगोग झील, सो मीरिरी झील, नुब्रा वैली, लेह महल, शंकर गोम्पा, अलची गोम्पा, थिक्सी गोम्पा, शांति स्तूप, 15 सितम्बर को लद्धाख महोत्सव व जून में सिंधु दर्शन, गंधक के श्रोत चुमथंग-नोबरा देखने लायक स्थल है। 

पंजाब में अमृतसर का स्वर्ण मन्दिर, जलियाँवाला बाग, वाघा बार्ड़र की शाम को होने वाली दैनिक परेड़, लोधी किला, दीपालपुर दुर्ग को अत्यधिक देखा जाता है।

चंड़ीगढ़ 
सबसे पहला नाम रोज गार्ड़न का आता है।  पिंजौर गार्ड़न वैसे तो हरियाणा में आता है लेकिन यहाँ से नजदीक पड़ता है।    सुखना झील व रॉक गार्ड़न देखे बगैर चड़ीगढ़ अधूरा है।

यहाँ पर अपने चार धाम, यमुनौत्री, गंगौत्री, केदारनाथ व बद्रीनाथ हैराम झूला व लक्ष्मण झूला, नीलंकंठ महादेव मन्दिर, हर की पौड़ी,  इनके अलावा हरिद्धार, मसूरी धनौल्टी, नैनीताल, अल्मोड़ा, कौसानी, मुक्तेश्वर, रानीखेत जैसे पहाड़ी आरामदायक शहर भी है। औली बुग्याल, दयारा बुग्याल, मुन्ड़ाली बुग्याल, पंवाली बुग्याल, रहस्यमयी रुपकुन्ड़ के नरकंकाल, वेदनी बुग्याल, पाताल भुवनेश्वर, हेमकुन्ठ साहिब, फ़ूलों की घाटी, सहित कई वन्य जीव अभ्यारण जैसे नन्दा देवी, कार्बेट भी है। इसके अलावा कई ग्लेशियर भी आसानी से पहुँच में आते है जैसे गौमुख, पिन्ड़ारी, खतलिंग, मिलम आदि। पंच बद्री, पंच केदार, पंच प्रयाग भी इसी राज्य में है।

गंगा यमुना की संगम प्रयाग भूमियहाँ प्राचीन शहर काशी/बनारस, आगरा का किला, ताज महलफ़तेहपुर सीकरी का बुलंद दरवाजामथुरा श्रीकृष्ण जन्म भूमि, वृन्दावन, सारनाथ, वाराणसी-काशी-बनारस,  अयोध्याझांसी, इलाहाबाद का किला, चुनार का किला आदि देखने लायक स्थान है।

यहाँ सबसे पहले बड़े-बड़े किले ध्यान में आते है। जैसे जयपुर के किले, जैसलमेर का सुनहरा किला व रेत के टीले, जोधपुर का मेहरानगढ किला, जूनागढ़, जयगढ़ किला, सोनार किला, बाला किला, नाहरगढ़ किला, भटनेर किला, तारागढ़ किला, बीकानेर किला, चित्तौड़गढ़ का किला, मांड़लगढ़ का किला, अचलगढ़ का किला, कुम्भलगढ़ का किला, जयपुर आमेर किला, अम्बर किला,  उदयपुर का किला, झील व इसके पास श्रीनाथजी का मन्दिर देखने लायक है। इकलौता पहाड़ी नगर माऊंट आबू, पुष्कर व अजमेर सहित रणथम्भौर किला व वन्य जीव अभ्यारण देखना ना भूले। सरिस्का वन्य जीव अभ्यारण।

खजुराहो का कामुक चित्र कला का मन्दिर, ग्वालियर का किला, सांची स्तूप, पंचगनी, पंचमढी, अमरकंटक, ओमकारेश्वर, महेश्वर किला व घाट, मान्डू, उज्जैन, इन्दौर, ओरछा, दतिया सहित कई वन्य जीव अभ्यारण आपका इन्तजार कर रहे है।

जोगीमारा गुफ़ाएँ, कुटुम्बसर गुफ़ा, ्चित्रकूट जलप्रपात, चेतुरागढ किला, राजिम आदि।

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, नागेश्वर ज्योतिर्लिंग, ओखा, बेट/भेंट द्धारका, जूनागढ़ का किला व पर्वत, अक्षरधाम मंदिर, मोढेरा सूर्य मन्दिर।

यहाँ के बोम्बे शहर में भारत की हिन्दी फ़िल्में तो बनती ही है इसके अलावा बोम्बे में भी बहुत सारे देखने लायक स्थान है। प्राचीन अजंता-ऐलौरा गुफ़ाएँ, (एलीफ़ैन्टा गुफ़ाएँ बोम्बे में गेट वे ऑफ़ इन्डिया के नजदीक), औरंगाबाद में घृष्नेश्वर ज्योतिर्लिंग, व यही नजदीक में बीबी का मकबरा, औरंगजेब की कब्र, दौलताबाद का अजेय किला, पुणे शहर, बोम्बे शहर, नासिक शहर त्रियम्बक ज्योतिर्लिंग, भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग, औंढ़ानाथ  ज्योतिर्लिंग सम्तुल्य मन्दिर, नान्देड़ का गुरुद्धारा भी देखने लायक है। यहाँ के पहाड़ी पर बने कई दुर्ग/किले जैसे कंदहार दुर्ग, जंजीरा दुर्ग, पन्हाला दुर्ग, पुरंदरगढ दुर्ग, कोलाबा दुर्ग, खंडेरी दुर्ग, सिंहगढ़ दुर्ग, सिंधु दुर्ग, आदि देखे बिना सब कुछ अधूरा है।

यहाँ कोलकत्ता शहर है जहाँ आज भी सड़क पर बस के साथ ट्राम भी चलती है। गंगासागर में पाप धोने जाने के लिये यही से बस मिलती है। यहाँ का विक्टोरिया मेमोरियल नहीं देखा तो क्या देखा? इसका पहाड़ी नगर दार्जिलिंग, व इसकी छोटी रेल की यात्रा जरुर करनी चाहिए, कलिमंपोंग व कुसियांग देखने लायक है। कलकत्ता का काली का मन्दिर, भूतनाथ, बेलूरमठ, पारसी अग्नि मन्दिर, जापानी बौद्ध मन्दिर, सेंच जॉन चर्च, सेंट पॉल कैथेड़्रल, सुन्दरवन देखने लायक है। मीदनापुर व दीघा के सुन्दर समुन्द्र तट जरुर देख कर आये।


सम्राट अशोक, चाणक्य जैसे महान आत्माओं की जन्मभूमि बिहार में प्राचीन नालन्दा विश्वविदयालय के अवशेष देखने जाये यहाँ इतनी पुस्तके थी कि उनमें लगी आगे कई महीने तक जलती रही थी। महाबोधि मन्दिर, गया पिन्ड़दान स्थली, बाराबार गुफ़ाएँ, सुमेश्वर किला, रोहतासगढ़ किला। पटना साहिब, राजगीर के गर्म झरने आदि।

झारखन्ड़
देवघर वैधनाथ ज्योतिर्लिंग, रजप्पा, छिनमस्तिका मन्दिर, लोध जलप्रपात, नेतरहाट देखने लायक है।

इस राज्य में भारत के चार धाम में से एक पुरी का जगन्नाथ मन्दिर, कोणार्क का सूर्य मन्दिर, पुरी के नजदीक उदयगिरी व खन्ड़गिरी की गुफ़ाएँ, मठ, विहार, बाराबती किला व यहाँ के समुन्द्र तट देखने लायक है।

यहाँ श्रीशैलम मल्लिकार्जुन भारत के 12 ज्योतिर्लिंग में से एक है व तिरुपति बालाजी संस्थान प्रमुख है, निजामों का शहर हैदराबाद की चारमीनार, गोलकुन्ड़ा का किला, तिरुपति बालाजी मन्दिर, अमरावती का शिव मन्दिर, वारंगल का हजार स्तभों का मन्दिर, लाखों वर्ष पुरानी बोरा गुफ़ाएँ, अरकू घाटी विशाखापट्टनम के पास, है जबकि शहर में कारासुरा पनडुब्बी संग्रहालय, फ़िल्म सिटी, यहाँ के समुन्द्र तट देखने लायक है।

यहाँ कई सारे समुन्द्र तट बेहद ही सुन्दर है। यहाँ एक कार्निवल भी आयोजित होता है। समुन्द्री यात्रा करने का मौका यहाँ छोड़ना नहीं चाहिए। सैकंड़ो वर्ष पुराने चर्च पुराने गोवा में देखने जाइये। लगे हाथ अगुआड़ा दुर्ग व वन्य जीव अभ्यारण भी देखना चाहिए।

यहाँ के मुख्य आकर्षण हम्पी मन्दिर, पट्टड़कल, बेलूर, श्रावणबेलगोला, बीजापुर, बीदर, गुलबर्गा है। शिमोगा जिले का जोग जलप्रपात, गोकर्ण, मुरुड़ेश्वर, चित्रदुर्ग किला, जलदुर्ग,  कोलार की टेकल चट्टान, मैसूर प्रमुख है।

यहाँ की हरियाली इसे स्वर्ग का रुप प्रदान करती है। त्रिवेन्द्रम का पद्ममनाभम स्वामी मन्दिर, कोवलम बीच, मुन्नार की पहाड़ी, थैकड़ी, पेरियार वन्य जीव अभ्यारण,  पेरियार वन्य जीव अभ्यारण, थलस्सरी किला, मुन्नार।  

दक्षिणभारत का यह प्रमुख राज्य है यहाँ चेन्नई का मरीना बीच, कन्याकुमारी, मदुरै मीनाक्षी मन्दिर, रामेश्वरम, कोड़ाइकनाल व ऊटी के पहाड़ व ऊटी की रेलवे की सवारी अवश्य करे। सेन्ट जॉर्ज किला, तिरुमयम किला, डिंड़ीगल किला, त्रंकिबार दुर्ग ऊटी में है, महाबलीपुरम मन्दिर व समुन्द्र तट देखने लायक है। 

पूर्वी भारत के सात राज्य में मुख्य राज्य है। यहाँ पर एक सींग का गैंड़ा काजीरंगा पार्क में ही पाया जाता है। यही दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्धीप माजुली जो कि ब्रह्मपुत्र नदी में बना हुआ है। यहाँ के चाय-बागानतांत्रिक पूजा वाला कामाख्या मन्दिरपक्षी आत्महत्या स्थल जटिंगाप्रमुख है। 

तवांग, तेजू, नामदफ़ा अभ्यारण, नूरारंग झरना।

यहाँ पर दुनिया का तीसरा ऊँचा पर्वत कंचनजंगा है। भारत चीन सीमा पर स्थित बाबा मन्दिर है जिनके बारे में कहा जाता है कि मरने के बाद भी यह फ़ौजी देश की सेवा कर रहा है। युमथांग घाटी, गुरुडोनमर झीलनाथुला दर्रा यही हरभजन बाबा का मन्दिर है। राजधानी गंगटोक व मिरिक झील भी देखने लायक है।
राजधानी कोहिमा, रंगा पहाड़।

उज्जयंत महल, कुंजबन महल।

लोकटक झील, दजुको घाटी, आजाद हिन्द सेना स्मारक, लामजो वन्य अभ्यारण।

चमफ़ाई, तामदिल झील, वानतांग झरना,

शिलांग चोटी देखने लायक है, हाथी झरना, मासिन राम,

पुदुचेरी/पांड़ीचेरी                                              
यहाँ चर्चफ़्रांसीसी शैली की इमारतेव समुन्द्र किनारे देखने लायक है।

सेल्लूलर जेल व हेवलॉक द्धीप।

दादर नगर हवेली
वन्य जीवन

किले, चर्च व समुन्द्र तट।

लक्ष्यदीप
समुन्द्र तट किनारे।
...............................................................................................................................



भारत के सभी राज्यों की मुख्य जानकारी देने वाले लिंक नीचे दिये गये है। मानचित्र व लेख तैयार करने में पुस्तकों व नेट का सहयोग लिया गया है।

यह लेख भारत के सभी राज्यों के दर्शनीय स्थलों जानकारी देने वाली सीरिज का ही भाग है। इस सीरिज के सबसे पहले लेख में भारत के सभी राज्यों के मुख्य पर्यटक स्थल राज्यवार बताये गये है इसके बाद इस सीरिज के आगामी लेखों में भारत के उन सभी राज्यों के दर्शनीय स्थलों की जानकारी दी जायेगी। निकट भविष्य में सम्पूर्ण भारत की बाइक यात्रा में इन्हे देखना मेरा लक्ष्य है। वैसे इनमें से अधिकतर तो मैंने देख भी लिये है।


उत्तर भारत के राज्य NORTH INDIAN STATE

02- हरियाणा                  HARYANA
03- हिमाचल                  HIMACHAL PRADESH
04- जम्मू-कमीर लेह      JAMMU KASHMIR
05- पंजाब                      PUNJAB
06- चंडीगढ़                    CHANDI GARH
07- उतराखन्ड़                UTTARA KHAND
08- उत्तर प्रदेश              UTTAR PRADESH
09- राजस्थान                 RAJASTHAN
10- मध्य प्रदेश               MADHYA PRADESH
11- छत्तीसगढ़               CHHATTIS GARH
12- गुजरात                    GUJARAT
13- महाराष्ट्र                                MAHARASTRA
दक्षिण भारत के राज्य SOUTH INDIAN STATE
14- आंध्रप्रदेश                               ANDHRA PRADESH
15- कर्नाटक                                 KARNATAKA
16- तमिलनाडु                             TAMIL NADU
17- केरल                                     KERALA
18- गोवा                                      GOA
पूर्वी भारत के राज्य EAST INDIAN STATE
19- बिहार                          BIHAR
20- झारखन्ड़                     JHARKHAND
21- उडीसा                         ORISSA
22- पश्चिम बंगाल             WEST BENGAL
23- सिक्किम                    SIKKIM
24- अरुणाचल प्रदॆश          ARUNACHAL PARDESH
25- असम                         ASSAM
26- मेघालय                      MEGHALAYA
27- नागालैन्ड़                    NAGALAND
28- मणिपुर                      MANIPUR
29-मिजोरम                      MIZORAM
30- त्रिपुरा                         TRIPURA  
केन्द्र शासित व दवीप समूह
31- अन्ड़मान निकोबार द्वीप समूह  ANDAMAN NICOBAR ISLANDS
32- पांड़ीचेरी/पुदुचेरी                         PUDUCHERRY
33- दमन दीव                                  DAMAN DIU
34- दादर नगर हवेली।                      DADRA NAGAR HAVELI
35- लक्ष्य द्वीप                               LAKSHA DWEEP


नोट----यदि मुझसे कोई महत्वपूर्ण स्थल छूट गया हो तो सूचित करे




11 टिप्‍पणियां:

प्रवीण कुमार गुप्ता-PRAVEEN KUMAR GUPTA ने कहा…

मध्य प्रदेश में अमरकंटक, ओंकारेश्वर, महेश्वर, मांडू, उज्जैन, इंदौर, ओरछा,माँ मैहर, दतिया.. आदि इस लिस्ट में नहीं हैं...

रविकर ने कहा…

कर ले मनुवा पर्यटन, रहे टनाटन देह |
बौद्धिक क्षमता भी बढे, बढे राष्ट्र से नेह ||

रविकर ने कहा…

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवारीय चर्चा मंच पर ।।

रविकर ने कहा…

संशोधन : शुक्रवारीय चर्चा मंच पर :

रविकर ने कहा…

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।। त्वरित टिप्पणियों का ब्लॉग ॥

संजय भास्‍कर ने कहा…

जानकारी का खजाना ...बहुत बहुत आभार

Virendra Kumar Sharma ने कहा…

GOOD JOB BUDDY .KEEP IT UP .

Virendra Kumar Sharma ने कहा…

Tourist places in Indian States भारतीय राज्यों के पर्य़टक स्थल
SANDEEP PANWAR
जाट देवता का सफर/journey

तारीफ़ करते मुक्त अधर।

SANDEEP PANWAR ने कहा…

प्रवीण जी आपके बताये स्थल मध्यप्रदेश राज्य में सम्मिलित कर दिये गये है। धन्यवाद,

अंकित कुमार हिन्दू ने कहा…

chitrakoot kahan hai >?

SANDEEP PANWAR ने कहा…

chitrakoot मध्यप्रदेश में है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...