शनिवार, 1 फ़रवरी 2014

Sandeep Panwar's Life book Jan 2014 संदीप पवाँर की जीवनी-जनवरी २०१४

नोट- फ़रवरी माह में आने वाले मुख्य त्यौहार व उत्सव मेले आदि का विवरण नीचे दिया गया है।

01-15     सूरज कुन्ड़ मेला। दिल्ली फ़रीदाबाद सीमा पर।

04     बसन्त पंचमी

07-11 Auto expo at  NOIDA

14    वैलनटाइन दिवस VALENTINE’S DAY

08-10 शेखावटी महोत्सव

09-12 गोवा कार्निवल

12-14 जैसलमेर मरु उत्सव

14    गुरु रविदास जन्मदिन
14    Valentine day

15-23 विश्व पुस्तक मेला, प्रगति मैदान, दिल्ली

17-27 ताज महोत्सव

19    फ़रवरी शिवाजी महाराज का जन्म दिन

24    स्वामी दयानन्द सरस्वती जी का जन्मदिन

27    महाशिवरात्रि

27-06 मार्च मन्ड़ी, हिमाचल, महाशिवरात्रि उत्सव

मेरे साथ JANUARY 2014 में घटित होने वाला मुख्य घटनाक्रम निम्नलिखित है।




01

आज नये साल के मौके पर पालम हवाई अडड़े दिल्ली से एयर इडिया के हवाई जहाज में सवार होकर श्रीनगर पहुँच गये। हमें श्रीनगर कल ही आना था लेकिन कल यहाँ जोरदार बर्फ़बारी होने से यहाँ आने वाली सभी उड़ान कैंसिल हो गयी थी। एयर इन्डिया ने हमे घर आने-जाने का टैक्सी का किराया दे दिया।
02

आज श्रीनगर के स्थानीय दर्शनीय स्थल देखे गये। जिसमें शंकराचार्य मन्दिर, निशात बाग, शालीमार बाग, ड़ल झील, मुगल गार्ड़न, हजरतबल दरगाह, आदि। नीरज का फ़ोन आया, मोबाइल वाइब्रेसन पर था, पता नहीं लग पाया बाद में उसे फ़ोन किया तो नीरज ने कहा, भाई कश्मीर रेल चालू है या नहीं, पता कर बता देना बताना क्या है? हम कल या परसो, उस रेल में घूम कर आयेंगे। सारी जानकारी ले लेना।
03

आज श्रीनगर से पहलगाम देखने गये। अवन्तीपोरा में हजार वर्ष पुराने मन्दिर के अवशेष देखे। उसके बाद अनन्तनाग से पहलगाम जाते हुए मटन गाँव में मार्तण्ड़ सूर्य मन्दिर भी देखा। पहलगाम के नजदीक जाने पर सड़क पर पड़ी जोरदार बर्फ़ से निकलते समय हमारी कार साँप की तरह बलखाती हुई बर्फ़ के ऊपर चल रही थी। सामने से कोई गाड़ी आती थी तो लगता था कि अब दोनों गाडियाँ ठुक कर रहेगी।
04

आज कश्मीर घाटी में बनिहाल से बारामूला के बीच चलने वाली रेल में बनिहाल से श्रीनगर तक की आने-जाने की रेल यात्रा की गयी। यह रेल भारत की सबसे लम्बी रेल सुरंग (11 किमी) से होकर पीरपंजाल पहाडियों के पार निकलती है। 
05

आज कश्मीर की बर्फ़ में जमकर मजे लेने के बाद हवाई मार्ग से दिल्ली की गयी। रात को 11:30 पर नीरज का फ़ोन आया उसे बताया कि हम तो कश्मीर रेलवे घूम आये है। बर्फ़बारी वाले दिन ही यह रेल कुछ घन्टों के लिये रोकी जाती है। तुम्हारी जब इच्छा हो घूम आना।
06

मनु प्रकाश त्यागी से बहुत देर तक कच्छ रण उत्सव देखने की योजना पर बात हुई। देखते है जा पाते है या नहीं? मैंने अपने टिकट बुक कर लिये है।
कार्यालय से चलते ही साईकिल का पिछला पहिया धमाके के साथ फ़ट गया। साईकिल की दुकान नजदीक ही थी लेकिन जेब में सिर्फ़ 50 रुपये थे। टायर व ट्यूब दोनों बेकार हो चुके थे अत: निर्णय लिया कि अब घर तक आठ-नौ किमी की दूरी साईकिल पर बैठकर ही जाया जायेगा। रिम तो खराब होने से रहा, टायर व टयूब पहले ही धमाके से फ़ट चुके है। गोकुलपुरी फ़्लाईओवर के नीचे से निकलते समय अजय भाई का फ़ोन आया कि भाई जी कहाँ पहुँच गये? फ़्लाईओवर के नीचे कहते ही अजय बोला भाई जी गोकुलपुरी स्टेट बैंक के सामने आ जाओ। 
एक बार साईकिल का पहिया देखा फ़िर अजय की बात पर ध्यान दिया। अजय की बात सुनकर सोचा चलो मिल लेते है। लेकिन यह क्या अजय बैंक पहुँचने से पहले ही मिल गया। जहाँ अजय मिला था उसके ठीक सामने साईकिल की दुकान थी। अब साईकिल का पहिया ठीक कराने के लिये अजय से 500 रुपये उधार ले लिये। दो-चार दिन में मौका लगा तो लौटा दिये जायेंगे। 400 रुपये में साईकिल ठीक हो गयी। तब तक अजय ने मेरे लेपटॉप से कश्मीर व गोवा यात्रा के फ़ोटो देखे। 
07

बोम्बे के पास देहरादून एक्सप्रेस के तीन डिब्बों में आग लगने से नौ लोग भस्म हो गये। दस दिन में दो ट्रेन आग की भेंट चढ गयी है। मेरा भारत महान 100 में अधिकतर (99) बेईमान।
08

आज प्रदीप चौहान जी का फ़ोन आया वैसे प्रदीप भाई रहने वाले तो पलवल के है लेकिन फ़िलहाल गुड़गाँव में किसी कम्पनी में कार्यरत है। घुमक्कड़ी पर प्रदीप भाई से काफ़ी देर तक वार्तालाप किया गया।

आज नरेन्द्र मोदी प्रचार अभियान की तरफ़ से एक फ़ोन आया जिसमें उन्होंने कहा कि आपने सरदार पटेल प्रतिमा के बारे में एक काल किया था उसके जवाब में ही आपको कॉल किया है। आप मोदी जी के अभियान में क्या मदद कर सकते है? अपुन ठहरे बाइक+पैदल वाले घुमक्कड़ कह दिया कि लम्बी बाइक या लम्बी पैदल घुमक्कड़ी करानी हो तो मोदी जी से पूछ लेना। नहीं तो मुझे अपना कार्य करने दो।
09

आज आगरा से खन्ना जी का फ़ोन आया। खन्ना जी ने कश्मीर घाटी में चलने वाली रेलवे की जानकारी ली। उन्हे बताया कि आप उधमपुर तक ट्रेन में जाओ, वहाँ से बनिहाल केवल 130 किमी के करीब रह जाता है। उधमपुर स्टेशन से बनिहाल स्टेशन के बीच रेलवे के अनुबन्ध वाली बसे चलती है। जो आपको बनिहाल छोड़ देंगी। बनिहाल से आगे ट्रेन का सफ़र यादगार रहेगा।

रात को विधान का फ़ोन आया, विधान ने दो साल पहले बाइक से नेपाल जाने की इच्छा जतायी थी लेकिन समय की कमी व बीते साल विधान की सेहत खराब रहने से नेपाल बाइक यात्रा पीछे खिसकती रही। सोच रहा हूँ कि नेपाल अकेला ही हो आऊँ।
10

अजय को फ़ोन लगाया एक तिकड़म बनाने की योजना बनायी। बाइक से लम्बी यात्रा पर जाने की योजना बतायी। हम दोनों मिलकर एक षड़यन्त्र को अंजाम देने में लगने वाले है।
11

महीने भर बाद बाइक घर से निकाली। मामी हमारे घर आयी हुई थी उन्हे उनके घर छोड़ने बाइक पर जाना पड़ा। मामी को इतनी ठन्ड़ में बाइक पर यात्रा करके अपनी नानी याद आ गयी होगी।
कार्यालय में पूरे 9-10 माह बाद बाइक लेकर गया तो साथी बोले अरे हम तो सोचे थे कि तुमने बाइक बेच ड़ाली है। इनकी सोच थी कि मैं साईकिल पर इसलिये कार्यालय आता हूँ कि बाइक बेच चुका हूँ। जबकि साईकिल से मैं पैसे बचाता हूँ व सेहत बनाता हूँ।
12

नीमराणा से अशोक जी का फ़ोन आया कि संदीप जी हम फ़रवरी में सरिस्का घूमने जा रहे है क्या आप हमारे मेहमान बनोगे? जी हाँ, आ तो जाऊँगा लेकिन मेहमान नहीं दोस्त बनकर। यात्रा की तारीख पक्की होते ही अशोक जी मुझे बतायेंगे। दोस्त बनकर यात्रा करने में अलग सुख है मेहमान बनकर बन्धन हो जाता है।
13

14

आज मकर संक्राति त्यौहार है। पैगम्बर मोहम्मद का आज हैप्पी बर्थ ड़े है। मुझे दोनों से कुछ मतलब नहीं। 
आज कार्यालय से तो अवकाश रहा, लेकिन इतनी ठन्ड़ में रात की ट्रेन से बीकानेर जा रहा हूँ।
15

आज पूरा दिन बीकानेर के लडेरा मरुस्थल (थार जैसा) में राकेश बिश्नोई व उनके बड़े भाई की कार में सवार होकर लडेरा ऊँट उत्सव स्थल पहुँच गये। मरुभूमि में बाइक वालों के स्टंट देखते हुए हमारा दिन बीता।
16

अजय भाई व विधान का फ़ोन आया। बाइक पर नेपाल जाने की योजना के बारी में बातचीत हुई।
17

राजेश सहरावत जी का फ़ोन याद दिलाने के लिये आया कि संदीप जी जिम कार्बेट पार्क कब चल रहे हो? राजेश जी की वैगन आर कार में लम्बी यात्रा करने का मन हो रहा है। अभी तक हम 2 ही तैयार है बाकि 2 सवारियाँ मिलते ही कार लेकर फ़ुर्र हो जायेंगे। कार में चार से कम होंगे तो बाइक से महँगा पड़ जायेगा। 4 से ज्यादा होंगे तो भीड़ हो जायेगी।
18

बोम्बे शहर में रहने वाले सचिन गवाडे जी से लम्बी बातचीत हुई। मेरा कार्यक्रम उनके साथ महाराष्ट्र के कुछ इलाके घूमने का बन रहा है। रेल टिकट बुक करने की जरुरत शायद नहीं होगी। अकेले जाना है इसलिये कोई फ़िक्र नहीं। बिना आरक्षण भी काम चला लिया जायेगा। सचिन जी महाराष्ट्र के किसी विधायक के साथ काम करते है जिससे उन्हे अन्य जगहों पर काफ़ी राहत मिलती है।
19
आज PNB ATM पहुँचने से पहले अजय भाई को फ़ोन लगाया। यह स्थल अजय भाई के घर के एकदम निकट है। बैंक की पास बुक पुरानी हो चुकी है नई पास बुक देने की कही तो 100 रु चार्ज की बात बतायी गयी। बताया कि यह राशि आपके एकाऊन्ट से कट जायेगी। अभी दो पेज बाकि है उसका इलाज यही निकला कि 500 रु कर-कर के बाकि रकम निकाली जाये ताकि पास बुक में ज्यादा से ज्यादा प्रविष्टी करायी जा सके। जिससे पास बुक जल्द भरे और नई मिल सके।
20  

कमेटियों के चक्कर में हाथ तंग हो गया। जिससे तय किया अब कभी कमेटी नहीं ड़ालनी है। क्या करना फ़ालतू राशि का। बच्चे काबिल हुए तो अपने लिये कमायेंगे अगर नाकारा हुए तो मेरी कमाई को भी उड़ा देंगे।
21

बोम्बे वाले दोस्त विशाल ने कश्मीर यात्रा के लेख देखकर कहा कि संदीप भाई मैं आपके लेख देखकर कश्मीर जाने की सोच रहा हूँ। विशाल ने कश्मीर से वापसी करने के लिये हवाई जहाज टिकट पहले ही बुक कर दिये थे।
22

बोम्बे से विशाल भाई का फ़ोन आया। मैंने कहा कहाँ हो? जवाब मिला त्रयम्बक में। विशाल भाई हर साल त्र्यम्बक घूमने आते रहते है। एक बार विशाल मेरे साथ यहाँ घूमने आया था। जिसके लेख मैंने पहले ही लगा दिये है।
23

देश के सबसे बड़े नौटंकी बाज ने रेल भवन के सामने नौटंकी शुरु की। जिससे इसपर रहा सहा भरोसा भी समाप्त हो गया।
देश के सबसे महान राजनीतिक इन्सान नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी का आज जन्म दिन था लेकिन लगता है देश में देश भक्त नहीं बचे है तभी तो देश की संसद में मौजूद 543 सांसदों में से सिर्फ़ एक ने ही इनको याद रखा।
24

आज अजय भाई अपने कार्यालय पधारे। मेरे साथ लगभग 4 घन्टे का समय बिताया। इस अवधि में हमने कई बातों पर विचार विमर्श किया। कार्यालय समय के बाद हम दोनों एक साथ घर के लिये निकले। नानकसर में स्टैन्ड़ के पास साईकिल पर लगने वाली दुकानों पर कचौड़ी खाई गयी। मैं अक्सर सप्ताह में एक बार कचौड़ी खाया करता हूँ। 
25

आज श्रीनगर के हाऊसबोट वाले मुददसर का फ़ोन आया। बोला कि साहब जी दुबारा कब आ रहे हो? हद है भाई, इसी महीने तो आया था। अब गर्मियों से पहले पुन: आना नहीं हो पायेगा।
26

देश ने तरेसठ वा गणतंत्र मनाया। नौटंकीबाज ने इस मौके पर रेल भवन के सामने जोरदार नौटंकी दिखायी। जीवन में पहली बार नटो की सरकार देखने को मिल रही है। धन्य है वो लोग जो ऐसे नौटंकीबाजों को चुनाव जिताने में सहयोग करते है। यदि यह लोग अपनी बचाव में बोले कि दूसरा कोई उपाय नहीं था तो उनका झूठ सामने आ जाता है क्योंकि आजकल चुनाव आयोग ने नोटा यानि नकारने का बटन भी उपलब्ध करा दिया है। उसका उपयोग क्यों नहीं किया?
27

बोम्बे से विशाल का फ़ोन लगातार आता रहा। वैसे तो फ़ोन पर बाते कई दिन से लगातार ही हो रही थी, लेकिन आज उसने मेरी श्रीनगर यात्रा देखने के बाद अपने बोम्बे से पठानकोट तक रेल टिकट भी टिकट बुक कर ही दिये। मार्च के आखिरी सप्ताह में विशाल भी सपरिवार श्रीनगर जायेगा। जाते समय हिमाचल की तीन-चार देवियों के दर्शन भी करने को मिल जायेंगे। इसके साथ ड़लहौजी व खजियार भी देखते हुए जायेंगे।
28


29

आज शाम के समय अपनी ही कालोनी में रहने वाले राजीव त्यागी ने अचानक रोक लिया। राजीव कहने लगा, संदीप भाई आप तो लगभग पूरा भारत घूम चुके हो। आपका ब्लॉग मैं देखता रहता हूँ। आपको फ़ेसबुक पर 2 मैसेज भी भेजे है। मुझे नहीं मिले। किसी और को भेज दिये होंगे। नहीं, आपकी मैग्नेटिक हिल वाली फ़ोटो देखकर ही भेज थे।

30

छत्तीसगढ में रहने वाली ब्लॉगर संगीता जी का फ़ेसबुक पर मैसेज देखा, उसमें उन्होंने आगामी दो फ़रवरी को दिल्ली के नांगलोई मैट्रो स्टेशन के पास कोई सेमिनार रखा हुआ है। रविवार का दिन है कोई आपातकाल नहीं हुआ तो चल देंगे।  
आज ही के दिन 1948 में महान इन्सान नत्थू राम गौड़से जी ने भारत देश का भला किया था। यह वही इन्सान था जिसका कभी कोई अनशन/धरना सफ़ल नहीं हुआ? सुभाष चन्द्र बोस को चुनाव में जीतने के बाद कांग्रेस का अध्यक्ष पद, इसी के कारण गवाना पड़ा था। यदि इसने सुभाष को कांग्रेस का अध्यक्ष रहने दिया होता तो अंग्रेज पहले ही भाग गये होते? इस इन्सान या किसी और के कारण सुभाष को युद्द अपराधी भी घोषित करवा दिया गया?
सुरेश चिपलूनकर जी की वाल से- 30 जनवरी 1948 की शाम को तथाकथित राष्ट्रपिता का वध हुआ था। 31 जनवरी को इसके भक्तों ने ब्राहमणों को खत्म करने की योजना बनाई (जैसी इन्दिरा हत्या के बाद बनायी गयी थी?) 1 फ़रवरी को महाराष्ट्र के कई गाँवों में चुन-चुन कर ब्राहमणों के घरों पर हमले हुए। जिसमें हत्या, लूटपाट व आगजनी भी शामिल है। सिख परिवारों की तरह कश्मीरी पण्डित व महाराष्ट्री पण्डित गाँधीवाद को आज भी याद रखते है।

31

अजय भाई का फ़ोन आया, बोले भाई जी मैं भजनपुरा आ गया हूँ। आप कहाँ हो? कार्यालय में जमा बैठा हूँ। आपकी पैन ड्राइव की जरुरत है। ठीक है भाई ले जाओ। आज अजय भाई का सोनीपत से तबादला हो गया है। आज वहाँ से कार्यमुक्त (रिलीव) होने के बाद कश्मीरी गेट के पास दिल्ली स्थित हरियाणा नहर वाई कार्यालय में अपना कार्यभार ग्रहण कर लिया है।
इन्दौर के घुमक्कड़ दोस्त मुकेश भालसे जी का फ़ोन आया, मुकेश भाई ने आज के लेख में लिखे गये एक हास्य बात पर खूब मजे लिये। मुकेश भाई ने अपनी आगामी हिमाचल यात्रा के लिये विचार विमर्श किया।





3 टिप्‍पणियां:

  1. "सोच रहा हूँ कि नेपाल अकेला ही हो आऊँ।" ये ठीक नहीं करोगे जाट भाई !!देख लेना हाँ !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बाबाजी की तरफ़ से कचौड़ी और आईसक्रीम का न्यौता पेंडिंग है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. आगामी कार्यक्रम क्या हैं, क्या कभी भेंट संभव है।

    उत्तर देंहटाएं

इस ब्लॉग के आने वाले सभी या किसी खास लेख में आप कुछ बाते जुडवाना चाहते है तो अवश्य बताये,

शालीन शब्दों में लिखी आपकी बात पर अमल किया जायेगा।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...