सोमवार, 1 सितंबर 2014

Sandeep Panwar's Life book August 2014 संदीप पवाँर की जीवनी- अगस्त २०१४



SEPTEMBER माह में आने वाले मुख्य त्यौहार /अवकाश /तिथि निम्न है।
Sep 07 : Onam ओणम
Sep 09 :  Pitr-Paksha begins पितृ पक्ष आरम्भ
Sep 24 : Pitr-Paksha ends पितृ पक्ष समाप्त
Sep 25 : Navaratri begins नवरात्रि आरम्भ
Sep 30 : Durga Puja begins दुर्गा पूजा आरम्भ
Sep 29 : Michael and All Angels  
बीते माह AUGUST 2014 की आपबीती का विवरण नीचे दिया है।

01
आज के दिन सबसे बढिया समाचार माननीय नरेन्द्र मोदी ने दिया। मोदी जी ने कहा कि अब से स्वयं सत्यापित किये हुए पेपर मान्य होंगे। इस समाचार की मुझे बडी खुशी हुई। कार्यालय में प्रतिदिन दर्जन भर लोग अपने पेपर सत्यापित करने के चक्कर में तंग करने के लिये आते रहते थे। अब उससे पीछा छूटेगा?
आज एक और घटना घटित हुई कि फ़ेसबुक पर पचास हजार कमाने वाले ने मुझे ब्लॉक कर दिया। इस बात का पता तब लगा जब रात को अपनी जीवनी का लेख प्रकाशित हुआ तो उसने भी जरुर पढा होगा। अगर उसने नहीं पढा तो उसके किसी चेले ने पढा होगा। मैंने गर्म लोहे पर बीते सप्ताह चोट की थी। देखते है कमाई की राशि से हैसियत की बात नहीं करने वाला माँगने से कब तक अपना शौक पूरा करेगा? कसम से मजा दो गुणा हो गया। एक दिन यह मुझे अनब्लॉक भी जरुर करेगा। तब मैं इसके साथ जैसे को तैसा करुँगा।

02
आज पटियाला से सुशील जी का फ़ोन आया। सुशील जी कैलाश मानसरोवर से आये है अब ब्लॉग शुरु करने वाले है। इसी कार्य में मदद करने के लिये फ़ोन किया था। आज सुशील भाई को फ़ोटो का साईज छोटा करना व उसमें नाम लिखना सिखाया। नेट से फ़ोक्सो phoxo.exe डाऊनलोड कराया जिसके उपरांत बाकि निर्देश फ़ोन पर दे दिये गये। अभी तक हम मिले नहीं है जबकि दो बार मिलने की कोशिश हो चुकी है।
आज विशाल भाई से आधा घन्टा बातचीत हुई। विशाल ने इस साल श्रीखन्ड यात्रा की है अगले साल आदि कैलाश यात्रा की ट्रेकिंग मेरे साथ करने का इरादा बना लिया है। अगले साल विशाल को मणिमहेश व किन्नर कैलाश यात्रा भी करवाने की कोशिश रहेगी।
सुना है नटवर सिंह की पुस्तक के सच का जवाब देने के लिये कांग्रेसी अम्मा सोनिया गाँधी भी जल्द पुस्तक लिखेगी। उम्मीद है कि पुस्तक हिन्दी में नहीं होगी नहीं तो पता नहीं अर्थ का अनर्थ लिखकर कितना बडा बखेडा खडा कर देगी? जैसे तेलंगाना को तेल लगाना बोलती है।

03
आज सुबह अखबार देखा तो एक फ़र्जी कथित स्वामी अग्निवेश का दिया गया ब्यान दिखायी दिया। यह बन्दा हमेशा संतरी रंग के कपडों में दिखायी देता है। इसने कहा कि सावन में होने वाली कावँर यात्रा व अमरनाथ पर प्रतिबन्ध लगना चाहिए। इसके अनुसार अमरनाथ यात्रा में केवल अंधविश्वासी लोग जाते है। अमरनाथ में ठन्ड के कारण बनने वाले बर्फ़ के ढेर वाले शिवलिंग के बारे में यह बोला कि इस प्रकार के बर्फ़ के ढेर यूरोप में सैकडों जगह बनते है। शुक्र है कि वहाँ के लोग अंधविश्वासी नहीं है नहीं तो वहाँ तो सैकडों अमरनाथ बना दिये जाते। फ़िर कश्मीर वाले अमरनाथ को कौन पूछता?
दूसरी बात जो इसने कही, कावँर यात्रा में केवल उत्पाती जाते है। काँवर यात्रा के नाम पर जो उत्पात सडकों पर देखने को मिलता है वह कई दिनों तक चलता है इसे रोकने टोकने वाला कोई नहीं है।
इसने एक बात और कही जो सबसे महत्वपूर्ण रही कि कथित साँई और कथित शंकराचार्य विवाद कुछ नहीं है यह केवल दुकानदारी की होड/ कम्पीटीशिन मात्र है। शंकराचार्य को दिक्कत यह है कि साँई की दुकान का टर्नओवर हमारी दुकान से ज्यादा क्यों होने लगा है? प्रचार का कमाल है। आज के समय जिसका जितना प्रचार होगा उसे लोग उतना ज्यादा देख पायेंगे। इसकी टर्नओवर वाली बात से तो मैं भी सहमत हूँ।
आज सबसे पहले भाई विशाल से बातचीत हुई। जिसमें आदि कैलाश यात्रा पर ज्यादा ध्यान केन्द्रित किया गया।
अजय भाई का फ़ोन आ गया। वैसे अजय भाई मुझसे केवल एक किमी दूर ही रहते है। अजय भाई को राजेश जी के साथ हरिदवार साथ ले जाने की सोच रहा था लेकिन रक्षा बन्धन होने के कारण उनका जाना नहीं हो पायेगा। अपुन ठहरे उल्टी खोपडी के प्राणी वापसी कितने दिनों में पहले से कहना सम्भव नहीं है। इसलिये अजय भाई के साथ यह यात्रा नहीं हो पायेगी।
आज छत्तीसगढ रायपुर निवासी ललित शर्मा जी का फ़ोन आया। गजब हो गया मैं उस समय उन्ही के बारे में सोच रहा था आगामी कुछ महीनों में मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ घूमने का सोच रहा हूँ इसी सिलसिले में ललित जी से बात करनी थी। ललित जी दूजी किस्म के घुमक्कड है अपुन जहाँ मोटे-मोटे स्थल देखते है तो ललित भाई ऐसे स्थल खोजते है जिनके बारे में लोगों को कम ही पता होता है उसके बाद ललित भाई उस स्थल पर पूरा जाँच आयोग बैठा देते है। ललित भाई जब तक उस स्थल पर पीएचडी ना कर ले। वहाँ से खिसकते नहीं है। मैंने कहा ललित भाई सितम्बर में रुपकुन्ड चलिये। आपकी खासियत अनुसार आप वहाँ की हड्डियों से यह राज उगलवा सकते हो कि उनके साथ क्या हुआ था? ललित भाई को बीते कुछ समय दो बार दुर्घटना से सामना करना पडा है जिस कारण उन्हे लम्बी ट्रेकिंग से दिक्कत हो सकती है। चलिये भाई फ़िर कभी सही।  

04
धर्मेन्द्र सांगवान हर की दून वाले साथी का फ़ोन आया। भाई उस समय पठानकोट में थे। वहाँ कैसे? सांगवान भाई ने बताया कि लडके को डलहौजी स्कूल छोडने आये थे। इस स्कूल की सालाना खर्च कोई दो लाख रु होती है। जबकि कुछ अन्य खर्च भी एक लाख हो जाते है। इस तरह एक साल में तीन लाख रु खर्च करना आम इन्सान से बाहर की बात है।

05

आज दिल्ली के हौज खास से विकी का फ़ोन आया। विकी से काफ़ी लम्बी बातचीत हुई। यह एक सप्ताह के लिये हिमाचल जाना चाहते है। शिमला के बाद छितकुल के बारे में बता दिया। विकी को ट्रेकिंग करने की इच्छा थी जिसके लिये। चम्बा मणिमहेश यात्रा की सलाह दी।
आज कार्यालय से घर आते समय देखा कि वजीराबाद पुल पर वायु सेनिकों ने ट्रेफ़िक रोक कर अपनी बडी गाडिया निकलवायी। दिल्ली की ट्रेफ़िक पुलिस उस समय डयूटी से गोली मार कर सो रही थी। एक ट्रेफ़िक सिपाही दुबका हुआ किनारे पर खडा था।


06
आज सुबह बस में बच्चों को लटकते हुए स्कूल जाते हुए देखा। इन बच्चों को बसों में लटकता देख अपने दिन याद आ गये। बसों में लटकते बच्चे अपनी जान जोखिम में डालकर स्कूल में जा रहे थे। निजी स्कूलो में तो बसे उपलब्ध है लेकिन सरकारी स्कूलों में बसे बहुत कम देखने को मिलती है।
आज अजय भाई कार्यालय आ धमके। अचानक कैसे आना हुआ? मैं तो फ़ोन करके आया हूँ आप अपना फ़ोन घर पर छोड आये हो। लगता है अजय भाई आज कार्यालय से एकदम फ़्री है। चलो भाई जी आज सरकारी भण्डारा खाने चलते है। भन्डारा और मैं ना बाबा ना। अगर भन्डारा किसी पैदल यात्रा में हो तो बात अलग है। अजय भाई मुझे मनाते रहे आखिरकार मेरी डयूटी समाप्त होने का समय हो गया तो हम बाहर आये। नानकसर में कचौडी खाने पहुँच गये। जिस बाबा के यहाँ कचौडी खाते है वो आज नही आये थे। इसलिये दूसरे से कचौडी खायी गयी। दूसरे कचौडी वाले ने बताया कि बाबा की लडकी कई दिन से गायब है।

07
आज खजुराहो, ओरछा व झांसी यात्रा का लेखन निपट गया। एक कहानी खत्म तो दूजी शुरु होगी मामू। अभी अन्डमान यात्रा के करीब तीस लेख लिखने है। इतनी लम्बी सीरिज को शुरु करने की बात से ऊब हो रही है। लेकिन एक बार शुरु कर दिया तो फ़िर रुकना नहीं। वो कहते है ना ओखली में सिर घुसेड दिया तो मूसल से क्या डरना? इसलिये सिर घुसेडने से बच रहा हूँ।

08
आज नेट रिचार्ज भी कराना पडेगा। मैं बीते कई साल से टू जी स्पीड का नेट उपयोग करता आ रहा हूँ। बीच में कोई साल भर तक MTS उपयोग करके देखा गया। लेकिन वो महंगा पड रहा था तो फ़िर से आईडिया का 2G उपयोग करना शुरु करता आ रहा हूँ। अब मैं आईडिया का 205 वाला रिचार्ज कराता हूँ जिसमें महीने भर की जरुरत पूरी हो जाती है। मैं नेट पर दिन भर में दो घन्टे मुश्किल से दे पाता हूं। अभी तक मेरे पास ऐसा मोबाइल नहीं है जिस पर अच्छी तरह नेट चलाया जा सके। बच्चे छोटे है मोबाइल के साथ उठा पटक करते रहते है। इसलिये एक साल और इन्तजार करना होगा उसके बाद बडी स्क्रीन 5 इन्च वाले दो मोबाइल लिये जायेंगे। एक अपने लिये, दूजा घरवाली के लिये।

09
आज संतोष तिडके जी का फ़ोन आया। संतोष ने कहा कि अमरनाथ यात्रा कब तक चलती है। रक्षा बन्धन तक होती है जो कल है। अरे हमने तो कल का तत्काल टिकट बुक कराया है। चलो फ़िर यह रकम डूब गयी समझो। अगर वापसी का नहीं किया है तो अब मत करना, अगर कर दिया है तो उसे कैंसिल करा लो। संतोष बोला उसके साथ चार लोग और आ रहे है वो नहीं मानेंगे तो ठीक है उन्हे कह दो कि वैष्णों देवी तक यात्रा कर आये।
आज हरिदवार जाना था लेकिन राजेश जी ने बताया कि कल सुबह चलेंगे तो मैंने मना कर दिया कि मैं तो हिमाचल जा रहा हूँ। उत्तराखन्ड में जोरदार बारिश होने की सम्भावना है बारिश के चक्कर में फ़ँस कर रह जाने से अच्छा है कि कुछ दिन प्रतीक्षा कर ली जाये।

10
आज रक्षा बन्धन है। अपुन को इस त्यौहार से कुछ लेना देना नहीं है। कोई सगी बुआ या बहिन नहीं है। चाचा ताऊ की है वो अपने हिसाब से देखती है किसी साल आयेगी तो कई साल गायब रहेगी। अब दोनों बच्चों (एक लडका और लडकी) को देखकर लगता है चलो इन्हे यह कमी नहीं खलेगी।

11
आज अजय भाई कार्यालय पहुँच गये। उनका चेहरा उदास लग रहा था। मैंने कहा क्या हुआ? भाई जी आज पुराना दुख उभर आया है? पुराना दुख क्या हुआ? अरे यू पथरी का दर्द आज कुछ ज्यादा परेशान करने पर लगा हुआ है। कचौरी खाने का आफ़र दिया लेकिन दर्द ज्यादा शक्तिशाली था। कचौडी पर भारी पड गया।
अजय भाई दर्द के कारण अपने कार्यालय नहीं लौटे। मेरे साथ घर चले। वजीराबाद पुल पार करते करने के बाद मेरी साईकिल आज पहली बार समतल सडक पर 50 किमी प्रति घन्टे की गति से दौड रही थी। गजब इस बात का था कि मैंने साईकिल को पैडल भी नहीं मारे थे। अगर उतराई होती तो बात समझ आती लेकिन समतल सडक पर साईकिल की इस गति को देख मैं हैरान था। आखिर कार मैंने अजय भाई को कहा बस भाई हाथ छोड दो नहीं तो किसी को ठोक दूँगा। उसका तो पता नहीं लेकिन मेरी साईकिल टुकडों में बिखर जायेगी।

12
माताजी छोटे भाई के पास मेरठ चली गयी है। कल देहरादून वाले मामाजी का फ़ोन आया था माताजी को रक्षा बन्धन पर बुलाना चाह रहे थे लेकिन अब माताजी 61 साल की हो गयी है अकेले जाने की बात नहीं मानी जा सकती। छोटा भाई मेरठ में रहता है उसके पास कुछ दिन रहेगी वहाँ से समय मिलने पर भाई देहरादून मिला कर ले आयेगा।
मुझे देहरादून वाले मामा के यहाँ जाना पसन्द नहीं है। ऐसा नहीं है कि उनसे कुछ बिगडी हुई है बस मन नहीं करता। किसी जमाने में इन्ही मामाजी के यहाँ एक महीना रहा करता था। मम्मी का भाई है मैं उन्हे कैसे मना कर सकता हूँ? मैंने कहा था कि अगर मैं साथ गया तो एक घन्टे से ज्यादा वहाँ नहीं रुकने वाला।

13
आज कार्यालय के LDC साथी महेश भाई का तबादला सिविक सेन्टर में हो गया। अपुन ने दो साल पहले सिविक सेन्टर में अठारवी मंजिल पर एक साल काम किया है। सिविक सेन्टर मुझे वातानुकूलित जेल जैसा लगता था। यहाँ मौज ही मौज है शनिवार की छुट्टी नहीं मिलती है लेकिन उसके बदले प्रतिदिन मात्र 6 घन्टे ही काम करना होता है। इससे अपने पास आधा दिन खाली मिल जाता है जिसमें लेखन व अन्य कार्य आसानी से निपट जाते है।
आज पडौस में रहने वाले गली के एक कुत्ते ने लडके पवित्र को काटने की कोशिश की जिससे उसको खरोच आ गयी। गली का यह कुत्ता बीते दो महीनों में तीन लोगों पर हमला कर चुका है। आज इसने अपनी शामत पर हमला किया है देखते है इसके अच्छे दिन कब आयेंगे?

14
आज महेश भाई को कार्यालय से रिलीव कर दिया गया। महेश भाई जल्द ही रेलवे में एकाउनटेन्ट बनने वाले है। परीक्षा परिणाम आ चुका है। पदभार ग्रहण के पत्र का इन्तजार है। शायद इस माह के अन्त तक महेश भाई रेलवे में शामिल हो जायेंगे।
आज अजय भाई ने फ़ोन कर कहा, भाई जी लगातार 4 दिन की छुट्टी है चलो कही भी घूमने चलो। मैं नेट खोल कर बैठा था। उत्तराखण्ड व हिमाचल के अगले सप्ताह के मौसम का पूर्वानुमान देखा तो पता लगा कि अगले सप्ताह के तीन दिन बारिश तंग करेगी। बारिश में उत्तराखन्ड या हिमाचल के पहाडों पर जाना मुसीबत में जानबूझ कर गर्दन फ़सांना है। करेरी धर्मशाला ट्रेकिंग में यह हमारे साथ हो चुका है। गंगौत्री में हमारे साथियों की जीप तीन दिन बाद निकल पायी थी।
आज विशाल भाई का फ़ोन आया। विशाल का जब भी फ़ोन आता है तो तय है कि बीस मिनट के करीब बात जरुर होगी। मेरी माताजी विशाल को घन्टे लाल के नाम से पुकारती है।
आज शाम को गली के कुत्ते की गली से आजादी करने की योजना तैयार कर ली गयी। हथियार निकाल लिये गये। हथियार देखकर एक दो पडौसी बोले कि जान से मारोगे क्या? नहीं पहली कोशिश जिन्दा पकडने की है। यदि भागकर तंग करेगा तो मरम्मत करने के बाद उसे दूर फ़ैंक दिया जायेगा। यदि आसानी से पकड में नहीं आया तो जान से मारना पडेगा।

15
आज सुबह गली के कुत्ते को गली से आजाद करने का समय आ पहुँचा। सबसे पहले पडौसियों के घरों के मुख्य दरवाजे बन्द करने को कहा गया कि हो सकता है बचने के लिये वो किसी के घर में घुस जाये। कुछ घातक हथियार भी तैयार थे यदि कुत्ता हमला करता तो उनकी चलाने की नौबत आ सकती थी लेकिन लाठी का पहला वार ही सही बैठ गया। जिसके बाद उसके लम्बे दाँत तोडने के बाद, उसे बोरी में बन्द कर गली से कई किमी दूर छोड आये। जब उसे बोरी से आजाद किया तो ऐसे घूर रहा था जैसे खा जायेगा। देखते है यह लौटकर गली में कब आयेगा?
आज भारत / हिन्दुस्तान का 68 वा आजादी दिवस मनाया गया। पहली बार लाल किले से किसी जानदार बन्दे मोदी को भाषण देते हुए चुना।
आज अजय भाई का दोपहर में फ़ोन आया। उस समय मैं सो रहा था। अजय ने बताया कि भाई जी इन्डिया गेट चलने का कार्यक्रम बनाया हुआ है। आप भी तैयार हो जाना। जब नीन्द सताये तो किसी और चीज की याद ना आये। मैंने अजय भाई को मना कर दिया।

16
आज कुछ खास नहीं।

17
आज अजय भाई ने फ़ेसबुक पर अपडेट किया जिससे पता लगा कि वह हथिनीकुन्ड बैराज घूमने के लिये गये हुए है।

18
आज अजय भाई का अपडेट देखा तो पता लगा कि वह रेणुका झील या डैम तक पहुंच गये है। इस जगह मुझे भी जाना तो है लेकिन कब यह पक्का नहीं है।
आज दोपहर में अपने घर से मात्र दो-तीन किमी दूर लोनी के इन्द्रापुरी इलाके में उपद्रव शुरु हो गया। मुझे किसी काम से लोनी स्टेशन जाना था लेकिन पुलिस की नाकेबन्दी के कारण वापिस आना पडा। इस फ़साद की जड एक कटुवा बताया जाता है शेर मोहम्मद नाम का एक मुल्ला/मौलवी कल शाम को एक हिन्दू बच्ची के साथ बलात्कार करता हुआ रंगे हाथ पकडा गया था। जिसे स्थानीय लोगों ने मरम्मत के बाद मुलायम की पुलिस के हवाले कर दिया। बताते है कि वह मुल्ला अगले दिन मोहल्ले में घूमता हुआ दिखायी दिया तो लोगों के सब्र का बान्ध टूट गया। जिस बच्ची के साथ इसने जबरदस्ती की उसकी उम्र मात्र 9 साल ही है। उस लडकी की हालत नाजुक बनी हुई है। स्थानीय हिन्दू लोगों ने विरोध स्वरुप यमुनौत्री राज्य मार्ग जाम कर दिया। मुलायम की पुलिस ने अत्यधिक त्वरित कार्यवाही करते हुए आसपास के थानों की पुलिस बुला ली। लोगों पर जमकर लाठी चार्ज किया गया।
लगभग 150 अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया। जिसके तहत आगामी कुछ दिनों तक पुलिस का तांडव देखने को मिलता रहेगा। सुना है सहारनपुर के हजारों लुटेरे दंगाईयों की फ़ोटो व वीडियो के सबूत होने के बाद भी अभी तक 50 लोग भी पकड में नहीं आ पाये है। कुछ भी हो दंगाई समुदाय के लोगों को पुलिस पकडने में रुचि नहीं दिखाती है। अब वह चाहे मुम्बई का आजाद पार्क हो या सहारनपुर का बलबा हो।

19
आज पांगी वैली में पल्सर बाइक वाले साथी रावत जी का फ़ोन आया। रावत जी बोले नन्दा देवी यात्रा के बारे में क्या इरादा है? इरादा तो नेक है लेकिन मैं यात्रा के दौरान जाने का इच्छुक नहीं हूँ जबकि रावत जी यात्रा के दौरान यहाँ जाना चाहते है। मैं मौसम के खुलने की प्रतीक्षा में कई दिन से रकसैक तैयार करके बैठा हूँ। जैसे ही सप्ताह भर के लिये मौसम साफ़ होने की झन्डी मिलेगी अपनी यात्रा आरम्भ हो जायेगी।

20  
आज कुछ खास नहीं हुआ।

21
आज बिजली ने बहुत परेशान किया। वैसे भी एक सप्ताह से गर्मी का प्रकोप कुछ ज्यादा ही है अपना घर दिल्ली की सीमा से नजदीक भले ही हो लेकिन यह आता उत्तर प्रदेश में ही है। उत्तर प्रदेश के बारे में तय हो गया है जब तक इसके टुकडे नहीं होंगे तब तक इसका सुधार मुमकिन नहीं है।

22
आज घर वाले मोबाइल पर कार्यालय से किसी का फ़ोन आया। मैंने अपना मुख्य मोबाइल कई दिनों से बन्द किया हुआ है। कार्यालय के लोग अपनी निजी कार्य के लिये वेवजह की पूछताछ करने के लिये काफ़ी फ़ोन करते है मुझे इतनी बात करने की आदत नहीं है। दो चार को हडकाया भी की घर के फ़ोन पर दुबारा बात ना करे। ज्यादा जरुरी काम है तो कार्यालय आकर बात करे। घर के फ़ोन पर तंग करने का क्या मतलब है?


23
आज विशाल भाई का फ़ोन आया। हुआ ऐसा कि कुछ देर पहले मनु ने फ़ेसबुक पर एक अपडेट किया था कि वे अपना ब्लॉग ब्लॉगर से हटाकर वर्डप्रेस पर ले जा रहे है। विशाल कुछ दिन पहले ऐसा कर चुका है। अब मेरा इरादा भी कुछ ऐसा ही करने का है। जिस कारण मैं वर्तमान ब्लॉग पर नई यात्रा नहीं लिख रहा हूँ। वर्तमान ब्लॉग पर 500 लेख होने के करीब है। यह ब्लॉग फ़िल्हाल चलता रहेगा। कुछ नया नहीं आयेगा जैसे ही नया ब्लॉग स्थापित हो जायेगा। वर्तमान सभी लेख वहाँ पहुंचा दिये जायेंगे। जिसके बाद यह ब्लॉग बन्द हो सकता है?


24
आज कुछ खास नहीं हुआ।

25
आज अजय भाई का फ़ोन आया। राजेश सहरावत जी जिम कार्बेट पार्क जाने के लिये उतावले हुए जा रहे है। अमित काकरान अजय भाई के जाने पहचाने है। अजय ने उनसे बात करने की कही है। देखते है कब जायेंगे। अजय बीते सप्ताह रेणुका झील होकर आये है पता लगा कि कुछ मुश्किल के बाद यात्रा सकुशल पूर्ण हुई।

26
आज वजीराबाद पुल पर सुबह से ही भयंकर जाम हो गया। यह शुक्र रहा कि मैं साईकिल पर था जिस कारण जाम में अटकने से बच गया। पुल पार करने पर पता लगा कि आज तो अमावस्या है जिस कारण हरियाणा के लोगों ने अपने वाहनों को सडक किनारे उल्टा सीधा खडा हुआ है जिस कारण जाम की नौबत आ गयी। वजीराबाद पुल पर पूर्णिमा व अमावस्या को जाम जरुर लगता है इसका कारण हरियाणा व हरियाणा से सटे दिल्ली के लोग है वे ज्यादातर अपने निजी वाहनों से आते है और यातायात पुलिस वाले सुबह देर से आते है जिस कारण इन लोगों को कोई रोकने-टोकने वाला नहीं होता। यदि दिल्ली की यातायात पुलिस इन दो अवसरो पर सुबह से ही चाक चौबन्द हो जाये तो पूरे दिन जाम की स्थिति ना बने।

27
आज शाम को कार्यालय से घर वापसी के समय वजीराबाद पुल पार कर कुछ आगे ही आया था कि वहाँ हवा में तेज दुर्गन्ध के कारण आगे बढना मुश्किल हो गया। किसी तरह आगे चला तो सडक किनारे खडी मारुति वैन के पास आते-आते बदबू इतनी तेज हो गयी कि उल्टी लगने की हालत हो गयी। दो-तीन पैदल चलने वाले लोग उल्टी करते हुए देख लिये। मैंने तेजी से साईकिल आगे बढायी तो जान में जान आयी।

28
आज विशाल भाई का बोम्बे से फ़ोन आया। विशाल ने कहा नन्दा देवी राज यात्रा में कब जा रहे हो? शायद रविवार या सोमवार को। विशाल आ जाओ। नहीं आ सकता हमारे यहाँ गणपति उत्सव है। चलो कोई बात नहीं, बारह साल बाद फ़िर मौका मिलेगा। इतने दिन बाद हाँ भाई, बारह साल बाद।

29
आज दो हजार जीबी बोले तो टीबी की एक्सटर्नल हार्ड डिस्क घर आ गयी है। वैसे तो लेपटॉप में अभी दो सौ जीबी मैमोरी खाली है लेकिन हर साल बहुत सारी यात्रा होती रहती है जिनमें बहुत सारी मैमोरी भरती रहती है। दो हजार जीबी की मैमोरी देखने में मोबाइल जैसी है। इसे पैन ड्राइव की तरह उपयोग किया जाता है। लेपटॉप का सारा खजाना इसमें पहुँचा दिया गया है।

30
आज कार्यालय का जरुरी कार्य निपटाना था जिस कारण खाली रहने का समय नहीं मिला। आज रात की बस से उत्तराखण्ड जाने की सोच रहा था लेकिन अचानक विचार आया कि क्यों ना नीली परी पर यात्रा की जाये। नन्दा देवी राज जात यात्रा चार/ पांच सितम्बर को समाप्त हो जायेगी। नीली परी पर कल सुबह जाने की तैयारी पूरी कर ली है।

31
आज अपुन का जन्म दिन है। आज से अपुन चालीसवे साल में प्रवेश कर चुके है। आइसक्रीम का बडा डिब्बा मँगवाया गया है। किसी को बुलाने का इरादा मन नहीं है। अत: घर परिवार वालो के साथ 5 kg का पूरा डिब्बा निपटा दिया है। आज रात ऋषिकेश विश्राम करना है। कल वाण पहुँचकर पैदल यात्रा आरम्भ की जायेगी।


2 टिप्‍पणियां:

रविकर ने कहा…

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति मंगलवार के - चर्चा मंच पर ।।

यात्री रोहित ने कहा…

सदींप भाई अब और न तड़पाओ, नये पोस्ट का बेसब्री से इन्तज़ार ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...