शुक्रवार, 1 अगस्त 2014

Sandeep Panwar's Life book July 2014 संदीप पवाँर की जीवनी- जुलाई २०१४

AUGUST माह में आने वाले मुख्य त्यौहार व अवकाश निम्न है।

AUG 01 Naag panchmi
AUG 10 Raksha Bandan
AUG 15 Independance Day
AUG 15 The Assumption of Mary
AUG 17 Krishna Janmashtami
Aug 29 Ganesh Chaturthi

बीते माह JULY 2014 की आपबीती का विवरण नीचे दिया है।


01
अन्डमान निकोबार की एक दर्जन दिवसीय लम्बी यात्रा के उपरांत कार्यालय जाना हुआ। लम्बी हवाई यात्रा के बाद अगले दिन भी कान में दबाब वाला दर्द महसूस हो रहा था। हवाई यात्रा करते समय अधिक ऊँचाई पर जाने से कानों पर दबाव पडता है जिससे कानों में जोरदार दर्द होता है। आज भी लग रहा है कि मैं अब भी हवाई जहाज में बैठा हुआ हूँ। लगता था कि यात्रा का खुमार अभी तक कायम है।

02
अन्डमान यात्रा का खुमार अभी उतरा भी नहीं था कि हिमालय यात्रा की योजना बना ली गयी। जल्द ही हिमाचल प्रदेश/उत्तराखण्ड की साप्ताहिक यात्रा की जायेगी। साथ कौन जायेगा? मैं अब इस बात की फ़िक्र नहीं करता हूँ। अधिकतर मौकों पर देखा गया है कि यात्रा पर साथ जाने की हाँ भरने वाले बन्दे, यात्रा की नियत तिथि तक गायब होते चले जाते है। इसलिये अब कोई साथ जाये या ना जाये, अपुन पर कोई फ़र्क नहीं पडता है।

03
आज टीवी व अखबारों में सर्वोच्च अदालत की अहम सलाह दहेज के फ़र्जी मुकदमों के बारे में जोरदार बहस देखने को मिली। अदालत ने कहा कि इस देश में सबसे नाजायज लाभ इस कानून का उठाया गया है। मैं अक्सर टीवी पर बहस नहीं देखा करता हूँ लेकिन इस विषय पर मैं पूरे 2 घन्टे का समय लगा दिया। हमारे देश का कानून ऐसा है कि जिसका लाभ गरीब आदमी नहीं उठा पाता है। देश में चलने वाले अधिकांश मुकदमों में आपसी सहमति से सुलहनामा कर लिया जाता है यदि सुलहनामा वाला नियम हटा दिया जाये तो सुलहनामा के नाम पर सौदा करने वाले अधिकांश मुकदमें अदालत में आयेंगे ही नहीं। अदालत का यह कहना कि दहेज के मुकदमें में अदालत के आदेश के बाद पकड-धकड हो। बेहतरीन कदम कहा जायेगा।

04
आज कार्यालय में काम करते समय दिमाग भन्ना गया। इनकम टैक्स का हिसाब करने में लगा हुआ था कि कि एक बुजुर्ग अपनी फ़ाइल लेकर आ धमका। उस बुढऊ को बैठने के लिये कुर्सी देकर गलती कर दी। अगर उसे कमरे के बाहर लगे बैंच पर कुछ देर प्रतीक्षा करने को कहता तो उचित रहता। उस बुढढे ने कुर्सी पर बैठते ही जल्दी-जल्दी का राग अलापना शुरु कर दिया। आयकर का काम बीच में छोडना पडा। उसका काम निपटाया तो उसने एक महीने पहले दी गयी फ़ाइल के बारे में जानने को कहा तो बात बिगड गयी। मैंने उसे फ़ाईलों का ढेर दिखाकर कहा कि आपसे पहले 15-16 फ़ाइले आयी हुई है पहले इनको निपटा लू उसके बाद आपसे बात करता हूँ आप बाहर लगे बेंच पर इन्तजार करे। बुढढा बिगडना ही था। बोला यह कर दूँगा वो कर दूँगा। ठीक है मेरा तबादला करवा दो। दूसरा आदमी अपनी पसन्द का बैठा लेना। दस मिनट में उसका दूसरा काम कर चलता किया। जल्दी जल्दी मचाने वाला बुढढा उसके बाद आधे घन्टे तक वही भटकता रहा तब उसकी जल्दी उसके घर चली गयी होगी।
आज प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी जी ने वैष्णों देवी के आधार स्थल कटरा तक जाने वाली रेल लाईन का शुभारम्भ किया। जल्द ही सपरिवार वैष्णों देवी की रेल यात्रा की जायेगी। इस लाईन पर रेल यात्रा करने का अलग आनन्द आयेगा।

05
आज राजेश सहरावत जी (अन्डमान निकोबार वाले साथी) फ़ोन आया कि मनु कि कुछ खबर है कि नहीं? नही तो? क्या हुआ? राजेश जी बताने लगे कि मैंने कल मनु को फ़ोन किया था उसके यहाँ बिजली सतर्कता विभाग का छापा पडा था जिसमें उसके घर का विद्युत भार ज्यादा पाया गया है। इस कारण मनु पर डेढ लाख के करीब का जुर्माना लगा दिया गया है। अरे बाप रे इतना मोटा जुर्माना तो रईसों के लिये भी चिन्ता का विषय हो जाता है। एक मध्यम वर्ग के सरकारी कर्मचारी के लिये यह राशि बडी रकम है।

06
आज बम्बईया वासी दोस्त विशाल राठौर व उनकी संगिनी सोनाली श्रीखण्ड यात्रा के लिये जाते हुए दिल्ली पधारे तो पहले से दिये गये वायदे अनुसार उन्हे लेने निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पहुँच गया। वहाँ लाकर रुम में उनका सामान रखवा कर दिल्ली में चलने वाली लाल स्थानीय बस में सवार होकर कुतुबमीनार पहुँचे। कुतुबमीनार देखने में घन्टा भर लग गया। कुतुबमीनार से बाहर निकलने ही वाले थे कि भयंकर (कुछ को तो भागकर बचने तक का मौका नहीं मिला।) बारिश के कारण आधा-पौना घन्टा खराब हो गया। छतरपुर मन्दिर नजदीक ही था लेकिन बारिश के चक्कर में वहाँ का कार्यक्रम रद्द कर निजामुद्दीन की ओर बढे।
निजामुद्दीन पहुँचकर समय देखा कि अभी तो 2 बजकर 40 मिनट हुए है। एक किमी आगे हुमायू का मकबरा है। मकबरे की वास्तुशिल्प व निर्माण कला के बहुत चर्चे सुने है। उधर का रुख कर लिया। यहाँ जाने से पहले सोचा था कि छोटा-मोटा मकबरा होगा लेकिन जब इसके परिसर में प्रवेश किया तो एक के बाद एक दरवाजे को पार करते हुए आगे बढना पडा। यहाँ आने से पहले हम सोच रहे थे कि इसे मात्र 15-20 मिनट में देखकर वापिस आ जायेंगे। लेकिन यहाँ तो घन्टा भर लग गया। विशाल निजामुद्दीन से नई दिल्ली तक लोकल ईमयू रेल से जाने की सोच रहा था लेकिन इस मकबरे ने वो रेल निकलवा दी। विशाल चिन्तित दिखायी दे रहा था। अभी हमारे पास एक घन्टा बाकि था। निजामुद्दीन स्टेशन पहुँचकर विशाल का सामान लिया और बस टर्मिनल से 166 नम्बर बस में बैठ नई दिल्ली पहुँच गये। विशाल को प्लेटफ़ार्म पर भेजने के साथ उससे विदा ली। 

07
आज विशाल से बात हुई। विशाल भाई श्रीखण्ड महादेव यात्रा से पहले हिमाचल की दुर्गम घाटी कहे जाने वाली सांग्ला व छितकुल की यात्रा पर पहुँच गये है। दो दिन वहाँ रहने के बाद 70 किमी की ट्रेकिंग करने जाना है।
आज संतोष तिडके की यात्रा आरम्भ होने वाली है संतोष अपनी बाइक पर केदारनाथ बद्रीनाथ आ रहा है। पहले उसका इरादा श्रीखण्ड महादेव जाने का था लेकिन मेरे वहाँ ना जाने के कारण उसने भी वहाँ जाना रदद कर दिया है।

08
आज रेल बजट आया। इसमें घोषणा हुई कि भारत में जल्द ही बुलेट ट्रेन दौडती दिखायी देंगी। मोदी ने आते ही रेल की दुनिया में चमत्कार करना शुरु कर दिया। भारत में बुलेट ट्रेन के बारे में सोचना भी एक स्वपन लगता था। अब मोदी सरकार के आने से लग रहा है अगले दो-तीन साल में अच्छे दिन दिखने आरम्भ हो जायेंगे।
ऑन लाइन पर बैटरी बैकअप के विकल्प रुप में एक बेहतरीन ऑफ़र दिखाई दिया। ऐसा मौका बार-बार नहीं मिलता है इसलिये झट से अपने लिये एक बुक कर दिया। सबसे बढिया बात यह है कि इसके दाम मुझे वस्तु हाथ में आने के बाद चुकाने है। धोखाधडी की गुंजाइश भी नहीं रहेगी।

09
नीमराणा से अशोक भाई का फ़ोन आया कि संदीप जी क्या हुआ? कुछ लिख नहीं रहे हो। समय नहीं मिल पा रहा था आज समय मिला है तो ओरछा का लाइट साऊंड शो लिख दिया गया। कल सुबह ब्लॉग पर आ जायेगा। ठीक है संदीप जी कल सुबह का इन्तजार रहेगा।

10
आज मोदी सरकार का पहला आम बजट आया। हम जैसे वेतन भोगी को काफ़ी लाभ मिला। अगर एक फ़्लैट भी ले लिया जाये तो फ़िर तो बीस साल तक ज्यादा लाभ मिलता रहेगा। कांग्रेस सरकार तो कई साल से वही अटकी हुई थी।
आज फ़्लिपकार्ट पर बुक किया गया बैटरी बैंक भी मिल गया। जो बैटरी बैक अप मैंने लिया है उसकी क्षमता मात्र 11000 MAH है। इसके आने से मुझे कैमरे व मोबाइल को चार्ज करने की सप्ताह भर तक की फ़िक्र नहीं है।

11
बराबर वाली गली का बिजली का ट्रांसफ़ार्मर खराब हो गया था आज मोहल्ले के लोग बिजली कार्यालय पहुँच गये। बिजली विभाग के जेई और ऐक्सन को धूप में खडा कर लिया। तेज धूप में सरकारी कर्मचारी ज्यादा देर तक सहन नहीं कर पाये इसका लाभ यह हुआ कि चार दिन से खराब ट्रांसफ़ार्मर आज शाम तक बदल दिया गया। एकता में बल है।
आज विशाल भाई ने दोपहर बाद श्रीखण्ड महादेव की रोमांचक ट्रेकिंग यात्रा आरम्भ कर दी है। देखते है उनके यादगार पल कैसे रहेंगे? इस यात्रा में वह सब कुछ समाहित रहता है जिसका एक ट्रेकर को दिल से इन्तजार रहता है।
नान्देड वाले दोस्त संतोष तिडके का फ़ोन आया कि मैं लेह वाली यात्रा के साथी ढिल्लू के साथ बद्रीनाथ पहुँच चुका हूँ।

12
आज राजेश सहरावत जी का हर्षिल से फ़ोन आया। उन्होंने बताया कि आज सुबह गंगौत्री घूम कर आये है। राजेश जी सावन में कावंडियों की मदद के लिये लगाये जाने वाले भन्डारे/कैम्प लगाने वाले लोगों के साथ वहाँ गये हुए है।

13
आज कई दिनों के इन्तजार के बाद बरखा रानी ने फ़ुहारे बरसायी। कई दिनों से गर्मी ने बहुत परेशान किया था। बारिश में पूरा परिवार जमकर नहाया।
समाचार चैनलों से पता लगा कि शिमला जा रही रोडवेज बस सोलन के पास पहाड से नीचे गिर गयी है जिसमें दो औरते ऊपर वाले को प्यारी हो गयी। पहाड में खाई में गिरती बसे की खबरों के कारण बाइक यात्रा सबसे सुरक्षित लगती है।
तिडके जी तुंगनाथ पहुँच चुके है। यहाँ से केदारनाथ जायेंगे उसके बाद सीधे महाराष्ट्र वापसी करने का इरादा है।

14
सुबह 7 बजे संतोष तिडके का फ़ोन आया। संतोष ने बताया कि उन्होंने केदारनाथ की पद यात्रा शुरु कर दी है। देखते है वापसी आज होगी या कल हो पायेगी।
आज अजय भाई कार्यालय आये। कुछ ज्यादा काम धाम नहीं था इसलिये बैठकर वार्तालाप किया गया। कल कचौडी खिलाने का वायदा किया है। बैंक में सरकारी काम से जाना है वापसी में कचौडी लेकर अजय भाई के यहाँ जाऊँगा। वहाँ दोनों बैठकर कचौडी खायेंगे।

15
कमिश्नर महोदय के औचक निरीक्षण के चलते अजय भाई के यहाँ नहीं जा पाया। बैक के काम के लिये महेश भाई चले गये।
विशाल भाई श्रीखण्ड की सफ़ल यात्रा करके रामपुर पहुँच गये है। विशाल के अनुसार उनकी यात्रा में भयंकर बर्फ़ मिली। विशाल का फ़ोटो देख कर लगा कि हमारी यात्रा के मुकाबले यह बर्फ़ बहुत ज्यादा मात्रा में है।
आज विपिन गौर से बात की। विधान ने बताया था कि विपिन आईसीयू में भर्ती है। विपिन से बातचीत हुई, जिसमें पता लगा कि विपिन को टाइफ़ाइड होने के चलते ब्लड में फ़्लेटलेटस कम हो जाने से आपातकाल स्थिति आन पडी।
संतोष तिडके से बातचीत में पता लगा कि भूस्खलन के कारण उनकी बाइक रुद्रप्रयाग में अटकी हुई है। मैंने कहा भाई चाहे रात हो जाये, आज उतराखण्ड के पहाडों से बाहर निकल आओ। अगले कुछ दिन यहाँ जमकर बारिश होने वाली है।

16
आज नानकसर में कचौडी खाकर भूख मिठाई गयी।
कल रात पडौसी अनिल जाट गंगौत्री से केदारनाथ की वार्षिक पद यात्रा पर गये है लेकिन मुझे लग रहा है कि उतराखण्ड में हुई तेज बारिश के कारण उनका आज गंगौत्री पहुंचना मुश्किल है। सुना है बाबा रामदेव भी गंगौत्री में फ़ंस गये है।

17
आज राकेश का फ़ोन आया कि जाट भाई कहाँ गायब हो? कही नहीं घर पर ही हूँ। कही घूमने नहीं जा रहे हो? अरे भाई एक आध महीना घर पर भी रहने दिया करो नहीं तो घरवाली और बच्चे शक्ल भी याद नहीं रखेंगे।
विशाल का फ़ोन आया। आज विशाल ने मनाली का भ्रमण किया। कल कुल्लू के आसपास मणिकर्ण व बिजली महादेव सहित कुछ अन्य स्थल देखने का कार्यक्रम है। चलो भाई जितना घूम सकते हो घूमते रहो एक बार बोम्बे पहुँच गये तो काम-धाम में उलझ कर रह जाओगे।

18
आज विशाल ने बताया कि उन्होंने मणिकर्ण के गर्म पानी में स्नान किया। उसके बाद बिजली महादेव की ट्रेकिंग की। कुल्लू में कई मन्दिर देखने के बाद ही होटल में वापिस लौटे। विशाल इस यात्रा का जमकर लुत्फ़ उठा रहा है।

19
आज सोनिया विहार के वाटर प्लांट के सामने बनाये गये गति रोधक पर एक बाइक सवार अपना संतुलन खो बैठा। मैं साईकिल पर था। बाइक वाले को फ़िल्मी स्टाईल में गिरते देखा। बाइक सवार बाइक के आगे जाकर गिरा। बाइक के नीचे उसकी एक टाँग भी आ गयी जिससे उसकी पतलून फ़ट गयी।
आज विशाल से बातचीत में पता लगा कि उन्होंने दिन में रिवाल्सर घूमने के बाद शाम को मन्डी में डेरा डाल दिया है। कल चण्डीगढ जायेंगे।
मनु से अन्डमान यात्रा के बाद आज बात की। मनु के यहाँ पडे बिजली विभाग की छापेमारी की जानकारी ली। मैं तो सोच रहा था कि एक लाख से ऊपर का जुर्माना हुआ होगा लेकिन मनु ने कहा कि ७५ हजार में मामला सुलट गया है। मनु को अपने घर का लोड बढवाना होगा या ऊपरी मंजिल के लिये अलग से कारोबारी कनेक्सन लगाना होगा।
आज नान्देड कुरुन्दा गाँ वाले बाबूराव से बात हुई। उन्होंने बताया कि बीते सप्ताह उनके लडके को बाइक से गिरने के कारण सिर में चोट आयी है। अभी भी अस्पताल में ही है। हैल्मेट नहीं पहना होने के कारण सिर में चोट आती है। आखिर कब समझेंगे लोग? सुरक्षा उपाय बिना सडकों पर निकलना नहीं चाहिए।

20  
आज गुलीवर की यात्रा नामक फ़िल्म देखी। लगे हाथ मगधीरा नामक फ़िल्म भी देखी।

21
आज विशाल भाई एक लम्बी यात्रा के बाद बोम्बे पहुँच गये। यह यात्रा विशाल के जीवन की सबसे यादगार यात्रा रहेगी।

22
आज पटियाला से सुशील जी का फ़ोन आया। सुशील भाई कुछ दिन पहले ही कैलाश मानसरोवर की यात्रा कर के लौटे है। उनकी यात्रा मस्त रही। मैं आगामी कुछ समय में आदि कैलाश यात्रा पर जाने वाला हूँ जिसके बारे में सुशील भाई को जरुरी बाते पता करने के लिये कहा था। अब वो जानकारी मुझे मिल गयी है।
आज कार्यालय की एक पुरानी साथी का फ़ोन आया। कुछ वर्ष पहले लालच में आकर मेरे कहने पर उन्होंने भी अपनी राशि एक कम्पनी में लगायी थी। हमारे काफ़ी बकाया अभी तक अटके है। देखते है कभी वापिस भी आयेंगे कि नहीं।

23
आज राजस्थान से एक पाठक का फ़ोन आया। उन्होंने नाम तो बताया था लेकिन याद नहीं रहा। इन्होंने श्रीखण्ड महादेव यात्रा के बारे में जानकारी लेने के इरादे से फ़ोन किया था। इनका पहला प्रश्न यही था कि यह यात्रा कब शुरु होगी? यात्रा तो दस तारीख को शुरु हो चुकी है। अब तो यह यात्रा अपने अंतिम चरण की ओर अग्रसर है। इस यात्रा के तुरन्त बाद किन्नर कैलाश आरम्भ होने वाली है। किन्नर समाप्त होते ही मणिमहेश यात्रा आरम्भ हो जायेगी। यह अपने साथ तीन साल का बच्चा लेकर इस यात्रा पर जाने की इच्छा रखते थे मैं इतना छोटा बच्चा इस यात्रा में ले जाने की साफ़ मना कर दी। बाकि इनकी इच्छा।
आज टीवी पर शिव सेना नाम की राजनीतिक पार्टी के किसी सांसद ने एक होटल मैनेजर को जबरन खाना खिलाने की कोशिश करने मात्र पर जमकर खबरे चलायी हुई है। घटना के समय उस मैनेजर ने कोई धार्मिक वस्त्र धारण नहीं किये थे जिससे सांसद को कोई अंदाजा होता कि यह शांतिप्रिय समुदाय से है। बीते चार दिन पहले अमरनाथ यात्रा के बालटाल में यात्रियों के लिये लगाये गये बीसियों भण्डारे आग में जला दिये गये। भोजन बनाने वाले बर्तनों में पेशाब किया। उस घटना की खबर दिखाने में इन दोगले समाचार चैनलों ने कोई खास रुचि नहीं दिखायी थी। आज शिव सेना के सांसद ने खराब भोजन परोसने वाले मैनेजर को वही खाना खिलाना चाहा (खिलाया नहीं) तो मीडिया का दोगलापन एक बार फ़िर जगजाहिर हो गया। यही मीडिया मात्र दो पहले बंगलौर में मुस्तफ़ा नामक अध्यापक को मुन्ना कहकर हमें बताती रही। इस अध्यापक ने 6 साल की बच्ची का रेप किया था उस समय यह अध्यापक रोजा रखा हुआ था। इससे साबित होता है कि क्या इस्लाम में रोजा रखने पर बोटी खाना व रेप जायज है?

24
बीते एक सप्ताह से काँवर यात्रा का जोर सडको पर दिखायी दे रहा था। मैंने सावन में होने वाली इस यात्रा के दौरान दिल्ली से बाहर के भन्डारे तो नहीं देखे है। लेकिन दिल्ली में भण्डारे लगाने में जो होड मचती है उसे देख लगता है कि धर्म के नाम पर लोग एक दूसरे से होड लगाने में लग जाते है। सिर्फ़ वजीराबाद रोड पर ही लोनी मोड से वजीराबाद पुल तक 6 भन्डारे लगाये गये है। अगर दूरी की बात की जाये तो यह सिर्फ़ सात किमी ही निकलेगी। असलियत में देखा जाये तो इनमें से चार भण्डारे लगाने की कोई आवश्यकता ही नहीं है।
काँवर यात्रा पर कई लोग आरोप लगाते है कि इनमें भक्ति वाले कम और मस्ती वाले ज्यादा होने लगे है। इनका कहना भी सही है। लेकिन देखा जाये तो मस्ती के लिये ही सही इतना लम्बा पैदल सफ़र करना कोई आसान कार्य नहीं है। इन लोगों की मेहनत को प्रणाम।

25
आज की खास घटना नीरज कुमार की है। मैं कार्यालय से घर आया और फ़ेसबुक खोलकर देखने लगा कि देखे किसने क्या शेयर किया है? नीरज ने कई महीने पुराना रोना-पीटना लिखा था। उसके अनुसार सैंकडों/ हजारों मित्र ब्लॉग लिखने को कह रहे है? जैसे नीरज के लेख नहीं मिले तो मर जायेंगे। नीरज भी पूरा डीट है। इन लोगों को मालूम है जो नीरज अपने बाप की नहीं सुनता वो इन लोगों की क्या सुनेगा? ताज्जुब होता है कि महीने में लगभग 50,000 हजार कमाने वाले की हैसियत नहीं है कि अपने लिये लैपटॉप पर 20,000 हजार खर्च कर ले। देखते है? आखिर 50,000 हजार महीना कमाने वाले की हैसियत क्या है?
इस अपडेट के जवाब में मैंने कहा कि नाटक तो कई साल चलता है। यहाँ तो पूरी नौटंकी हो रही है, कजरीवाल जैसी? सभी को (दो-चार अपवाद भी होंगे) शत % यकीन है केजरी की तरह U टर्न ले लिया जायेगा। तब तक खुजली की तरह चन्दा कोष खुला रहना चाहिए? जिससे दुनिया का कुछ हो ना हो अपना भला तो हो जायेगा। (नोट-उसके ब्लॉग पर दो साल से चन्दा/डोनेशन माँगने की बात लिखी हुई है? चन्दा माँगने वालों को उसके बारे में सुनना भी पडेगा। )
बुरी लग गयी भाई को, तुरन्त एक नया अपडेट दिया कि जब अपने ही छुरा घोंपते हैं ना... तो वाकई जान निकल जाती है...
अपुन ठहरे मनमौजी, इस अपडेट पर कह दिया कि घाव ज्यादा गहरा तो नहीं हुआ?
कसम से सुलख गयी भाई की। अब मुझे लगने लगा था कि नीरज अपनी असली औकात जल्द दिखायेगा? कुछ मिनटों बाद वह पल भी आ गया?
बात यही तक रहती तो भी ठीक थी लेकिन नीरज अपनी असली औकात पर उतर आया, जिससे साफ़ हो गया कि इसके हाथी की तरह खाने के व दिखाने के दाँत अलग है।
अपनी औकात पर आते नीरज ने लिखा कि सन्दीप, यह तुम्हारे घर का कबाडखाना नहीं है जो जब चाहे अपनी गन्दगी यहाँ फैलाकर चले जाते हो। जुबान सम्भालकर बात करो। जुबान नहीं सम्भाली जाती तो अपने घर बैठो।
उसके कुछ अन्य दोस्तो ने भी अपनी-अपनी समझ से प्रवचन दिये। ज्यादातर इसी के पक्ष में थे। उसके दोस्त उसका पक्ष नहीं लेगे तो किसका लेते? इनमें से कईयों को मैं अपनी लिस्ट से बहुत पहले हटा चुका हूँ।
मेरी बात से सौलंकी व सक्सेना उपनाम वाले को ज्यादा जलन हुई। मेरी आदत है सच कहना, जो कडुवा होता है। जिसका स्वाद मिर्ची से भी बुरा होता है। जो महाशय इसकी सपोर्ट करने आये थे उनकी प्रोफ़ाइल से पता लगा कि उनमें से अधिकतर का लगाव पापिया पार्टी उर्फ़ खुजलीवाले से जुडा है। मैं खुजली वाले की हमेशा बजाता हूँ जिससे मेरी बात से इनको तो चिढ होनी ही थी। अत: स्पष्ट हो गया कि इन्होंने नीरज की स्पोर्ट क्यों ली?
पचास हजार/ 50,000 के करीब मासिक कमाने वाला व कही भी चन्दा ना देने वाला माँगेगा तो मेरा सवाल यथावत रहेगा। दान चन्दा तो मैं खुद भी नहीं देता हूँ। (एक दो अपवाद छोडकर) मेहनत की खाता हूँ। इसलिये माँगना अपने नियम के विपरीत है।
खैर छोडो, जो बन्दा अपने बाप की इज्जत नहीं करता हो उससे दूसरों की इज्जत की उम्मीद करना बेमानी है।

26
आज भारत देश के सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले उत्तर प्रदेश उर्फ़ पुत्तर प्रदेश में दो सालों से लगातार होने दंगे इस माह सहारनपुर में शुरु हो गये। हर महीने होने वाले दंगों में हर बार नया शहर/जिला जुडता जाता है। बीते साल मथुरा का दंगा। मुज्जफ़र नगर का दंगा। कुछ दिन पहले मुरादाबाद के कांठ का दंगा हुआ था। लोकसभा चुनाव में मोदी को बोटी-बोटी काटने वाले के इलाके में हाईकोर्ट के आदेश के बाद एक गुरुद्वारे ने अपनी जीती हुई जमीन पर दीवार बनाने के बाद उसकी छत डालनी चाही तो सुबह-सुबह अपना पेट भरकर रोजा शुरु करने लोगों ने सिख लोगों की दुकानों को लूट लिया। जो सामान उठाने लायक नहीं था उसे आग लगा दी गयी। यह घटना सोची समझी रणनीति का हिस्सा है। इसके जवाब में सरदार कुछ कार्यवाही कर पाते उससे पहले कर्फ़्यू लगा दिया गया ताकि लोग अपना जलता सामान भी ना बचा पाये? दंगा समुदाय के साथ मिलकर प्रशासन ने योजना बनाकर काम किया?
देखते है अब किस शहर का नम्बर आयेगा? जिस शहर में मुल्लों की आबादी ज्यादा है ऐसे दंगे वही क्यों हो रहे है?

27
आज कारगिल लडाई की सालगिरह है। आज से 15 साल पहले पाकिस्तान के नापाक इरादे यही ध्वस्त हुए थे। तोलोलिंग चोटी और 5140 नामक चोटी पर पुन: कब्जा करने के प्रयास में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गये थे।
लेफ़्टिनेनट मनोज पाण्डे सहित 11 सैनिक एक अन्य चोटी पर सफ़ल कब्जा करते हुए वीरगति प्राप्त कर गये।

28
आज हिमाचल जाने का कार्यक्रम था लेकिन मौसम विभाग की भविष्यवाणी है कि पहाडों में आगामी कुछ दिन में भयंकर बारिश होती है। इसे देखते हुए यह यात्रा स्थगित कर दी गयी।

29
अजय भाई से बात हुई। आजकल मैंने अपना मोबाइल कार्यालय में अपने साथ रखना छोड दिया है। जिस कारण अपने दोस्तों को मुझसे बात करने के लिये कई बार फ़ोन करना पड रहा है। अजय भाई हिमाचल में बाइक यात्रा करना चाहते है जबकि बरसात का मौसम देखते हुए मैंने कहा कि कुछ दिन पहाडों में जाना मुसीबत को बुलाना है।
मेरा वर्तमान मोबाइल नम्बर कार्यालय में गलती से वितरित हो चुका है जिस कारण बीते एक सप्ताह से 50-60 फ़ोन आने शुरु हो गये थे। मुझे इतने फ़ोन सुनने की आदत नहीं है। कार्यालय के अधिकतर फ़ोन ऐसे होते है जिनमें कर्मचारी का आना जरुरी होता है लेकिन वे सोचते है कि फ़ोन पर ही सब कुछ काम हो जाना चाहिए। यदि उनकी सोच ऐसी ही है तो उन्हे अधिकारी के फ़ोन पर बात करनी चाहिए।
दोस्तों के फ़ोन दिन में कितने भी आ जाये उसकी खुशी होती है। दोस्तों के फ़ोन परेशान करने के लिये नहीं होते है।

30
आज विशाल भाई ने फ़ेसबुक पर माथेरान के वन ट्री हिल का एक अपडेट दिया था। जिस पर कई मजेदार कमेन्ट आये। विशाल बोला संदीप भाई मैंने कुछ गलत तो नहीं लिख दिया। सच बात कभी गलत नहीं होती। काने को काने कहना में कोई बुराई नहीं होती? विशाल अपनी तरह मस्तीखोर प्राणी है जिस कारण हमारी अच्छी पटती है। आगामी कुछ महीने में विशाल के साथ एक और यात्रा करने का संयोग बनता दिख रहा है।

31
आज कार्यालय में एक कर्मचारी अपने काम को शीघ्र कराने के लिये रिश्वत की आफ़र देने लगा। पहले तो गुस्सा आया। एक बार तो मन में आया कि इसे एक दो किलो का हाथ जमा दूअ लेकिन अपुन दंगाई समुदाय से तो है नहीं इसलिये उसे कह दिया कि जा नहीं लेता रिश्वत जो उखाडता हो उखाड ले। उसने कमिश्नर के पास जाने की धमकी दी। अब पिटके जायेगा या सही सलामत यह बता। इतना कहते ही कमरे से बाहर हो गया।
आज खुजली वाले नी नौटंकी फ़्लाप साबित हुई। पचास हजार लोगों की उम्मीद में सारे मैदान में कुर्सी लगाय़ी गयी थी लेकिन आये कितने मात्र दो-ढाई हजार?
नौ तारीख को ऋषिकेश जाने का कार्यक्रम है।

10 टिप्‍पणियां:

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

भोत बढिया, जाट देवता की जीवनी।

निर्मला कपिला ने कहा…

बहुत सुन्दर यात्रा विवरण

रविकर ने कहा…

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति आज शनिवासरीय चर्चा मंच पर ।।

rahul singh ने कहा…

Aap log kyon lad rahe ho . Aise likhakar to bat bad jayegi

Vaanbhatt ने कहा…

बेहतरीन प्रस्तुति...

SACHIN TYAGI ने कहा…

जाट की पोल खोल विशेषांक

Manu Tyagi ने कहा…

मजा खडा कर दिया । 50 हजार की सैलरी अगर मेरी होती तो मै और ज्यादा घूूमता चाहे परिवार की जिम्मेदारी कितनी भी होती

Vishal Rathod ने कहा…

ise mein jaroor copy karoonga. bahut badiya

आशा जोगळेकर ने कहा…

जाट देवता की डायरी बहुत जानकारी भरी।

संजय भास्‍कर ने कहा…

Jaat Devta Jai ho :))

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...