गुरुवार, 1 मई 2014

Sandeep Panwar's Life book April 2014 संदीप पवाँर की जीवनी- अप्रैल २०१४

MAY 2014 माह में आने वाले मुख्य त्यौहार व अवकाश निम्न है।
01 PARSHURAM JAYANTI,      परशुराम जयंती
01 MAJDOOR DIWAS,           मजदूर दिवस
01 SONGARH MELA            सोनगढ मेला
02 SHIVAJI JAYANTI           शिवाजी जयंती
02 AKSHAYA TRITIYA,          अक्षय तृतीया/तीज
02 GURU ARJUN DEV JAYANTI गुरु अर्जुनदेव जयंती
04 SURDAS JAYANTI           सुरदास जयंती
05 AJMER URSH               अजमेर उर्स आरम्भ    
08 REDCROSS DAY             रेडक्रास दिवस
13 HAJRART ALI JAYANTI      हजरत अली जयंती
14 BOODHA POORNIMA/ NEW YEAR बुद्द पूर्णिमा/बौद्द नव वर्ष
16 NARAD JYANTI              नारद जयन्ती
23 GURU AMARDAS BIRTHDAY गुरु अमरदास जयन्ती
26 SABBE MIRAJ                शब्बे मिराज  
29 ASCENSION OF JESU        प्रभु इसु/जीसस का पुनर्जन्म
31 RANA PARTAP JAYANTI     राणा प्रताप जयन्ती
बीते माह अप्रैल 2014 में हुआ लेखा जोखा विवरण नीचे दिया है।



01
आज राजेश सहरावत जी का फ़ोन आया कि नई गाडी ली है हरिदवार चलो। मैंने कहा भारत भ्रमण पर जाना है। उन्होंने कहा पहले हरिदवार तो चलो, उसके बाद जहाँ कहोगे, वहाँ चल देंगे।
02
बोम्बे वाला दोस्त विशाल हिमाचल के बाद श्रीनगर घूमने पहुँच गया। उसने फ़ोन पर बताया कि जहाँ देखो बर्फ़ ही बर्फ़ है। लगता है कि बोम्बे वासी पहाडों की बर्फ़ से तंग आ गये।
03

आज विशाल ने बताया कि उसने श्रीनगर के शंकराचार्य पर्वत पर पैदल चढाई की है।
04
                                                                                       ;
05
कार्यालय में आयकर गणना में गलती से ज्यादा आयकर काट दिया गया था। आज उसे सही किया गया।
06
आज 20-20 विश्व कप क्रिकेट के फ़ाईनल में श्रीलंका ने भारत को हरा कर उसकी असली औकात बता डाली। पहले कभी पूरा-पूरा मैच देखने के चक्कर में घन्टो टीवी आगे बैठे रहते थे। लेकिन अब बात कौन जीता कौन हारा तक जानने पर सिमट चुकी है।
07

आज नवरात्र में व्रत करने वाले पडौसियों ने सुबह 5  बजे ही दोनों बच्चों को उठा दिया। इनकी अंध भक्ति देखकर लगता है कि इन्हे दूसरे की नीन्द से कोई मतलब नहीं है, यह सिर्फ़ उस बात पर अमल करते है। अपना काम बनता, भाड में जनता।
08

आज मैडम जी को अपने गाँव जाना था लेकिन दो दिन बाद देश के भविष्य के लिये निर्णायक चुनाव होने है यदि मैडम गाँव जाती तो देश भक्त व समान नागरिक हितों की बात करने वाली पार्टी का एक वोट कम हो जाता। इसलिये गांव जाना दो दिन के लिये स्थगित कर दिया गया।
09

आज विशाल का श्रीखण्ड यात्रा के लिये फ़ोन आया। विशाल भीमाशंकर का खतरनाक सीढीघाट वाला ट्रेकिंग मार्ग मेरे साथ सफ़लता से कर चुका है विशाल अभी से श्रीखन्डमहादेव यात्रा की तैयारी आरम्भ कर चुका है जिससे इस यात्रा में भी आसानी से पार हो जायेगा।

आज फ़ेसबुक पर भाटिया की वाल व समाचार से पता लगा कि मशहूर कामेडियन व लाफ़्टर चैम्पियन विजेता अलबेला खत्री का फ़ेफ़डों की लम्बी बीमारी के कारण 49 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। अलबेला खत्री जी से एक बार साँपला के ब्लागर सम्मेलन में मुलाकात हुई थी। वहाँ अलबेला जी ने जब मुझे “जाटदेवता” कैसे हो? कह कर पुकारा था तो बडी खुशी हुई थी कि मुझे अलबेला जी पहचानते है। एक मस्त मौला इन्सान का अचानक चला जाना आश्चर्य से कम नहीं है।
10

आज सुबह परिवार के तीनों सदस्य 07:10 मिनट पर वोट डालने पहुँच गये। सबसे पहला नम्बर माताजी का था उसके बाद मेरा, मेरे पीछे श्रीमती जी थी हम तीनों के पास फ़ोटो वाली वोट पर्ची थी। निशान लगाने वाली कर्मचारी ने मैडम को मना कर दिया कि इनका कोई आईडी प्रूफ़ दिखाओ। अब आईडी के लिये घर जाना पडता। मैंने जिद पकड ली कि मुझे शिकायत पुस्तिका दीजिये। आपकी शिकायत उसमें लिखनी है कि हमें फ़ोटो पर्ची होने के बाद भी वोट डालने से मना कर दिया है। शिकायत पुस्तिका का नाम लेते ही BLO  ने गिरगिट की तरह रंग बदल दिया। मैडम जी को भी फ़ोटो वाली पर्ची से वोट डालने दी गयी।
11

आज सुबह वाली गाडी से मैडम को गाँव जाने के लिये स्टेशन पहुँचाना पडा।
आज खजुराहो व ओरछा जाने के व झांसी से वापसी के रेल टिकट बुक कर दिये। जाने की 5 RAC है जबकि वापसी की सीट पक्की हो गयी है।
12
दिन में हरिदवार का अकस्मात कार्यक्रम बन गया। रात 11 बजे हरिदवार के लिये कह कर चले थे लेकिन गाजियाबाद पहुंचने से पहले कुमायू का कार्यक्रम बना डाला। पूरी रात गाडी चलाकर सुबह भीमताल पहुँच गये।
13
भीमताल, नैनीताल, अल्मोडा होकर शाम तक पाताल भुवनेश्वर के नजदीक पहुँच गये। लगभग 60-70 किमी गाडी चलाने का मौका हाथ लगा। मुझे गाडी चलाने के नाम पर राजेश जी का डर उनके चेहरे पर झलक आता था।
14
पाताल भुवनेश्वर गुफ़ा देखी गयी। जिसका विस्तृत विवरण आपको वर्तमान यात्रा सीरिज में बताया जायेगा। रात दो बजे तक घर पहुँच गये। वापसी में राजेश जी ने पूरे मार्ग चालक की सीट पर कब्जा जमाये रखा।
15
बाइक का प्रदूषण प्रमाण पत्र समाप्त हो चुका था। आज उसका नवीनीकरण करा दिया गया। अब अगले तीन महीने कोई टेंशन नहीं। अपने प्रदूषण वाला फ़ोन करके बता देता है कि आपका प्रमाण पत्र आज समाप्त हो चुका है।
16
आज सुबह बून्दाबान्दी होने के कारण ट्रेकिंग वाला फ़ोन्चू पहन कर कार्यालय जाना पडा। आज पवित्र का 6 जन्मदिन भी था आइसक्रीम लेने के लिये जौहरीपुर गया। वहाँ ATM पर अजय भाई से मुलाकात हुई।
17
खजूरी फ़्लाई ओवर के नीचे एक बाइक वाला अपनी गलती से एक ट्रक की चपेट में आ गया। जिससे बाइक वाले का एक कन्धा पूरी तरह कुचला गया। गलती बाइक वाले की थी लेकिन अन्धी जनता ने ट्रक वाले को जी भर कर मारा।
18
आज घर पर अकेला मौज करता रहा, माताजी मामा के लडके की शादी में भात न्यौतने गयी हुई है जबकि मैडम जी अपने चाचा के लडके की शादी में गयी हुई है। अपना बुलावा दोनों जगह से है लेकिन मुझे शादी ब्याह में कुछ खास कारणों से जाना पसन्द नहीं है।
19

आज कोलकत्ता से बप्पा चक्रवर्ती का फ़ोन आया। बप्पा जी फ़िल्म लाइन में कार्य करते है। घुमक्कडी का शौंक है। मेरे साथ हिमालय की यात्रा पर जाना चाहते है। सितम्बर में होने वाली हिमालय ट्रेकिंग यात्रा के लिये बप्पा जी को साथ ले जाने की हाँ कह दी है।
20  

आज खाली दिन था अत: श्रीमती जी के साथ नीलकंठ, यमुनौत्री, मसूरी बाइक का लेखन निपटा दिया गया। जिसका प्रकाशन वर्तमान लेख समाप्त होने के बाद कर दिया जायेगा। अभी कई पुरानी यात्रा बाकी है?
21
आज शस्त्र लाइसेंस नवीनीकरण के लिये डयूटी से सीधा गाजियाबाद स्थित SDM पहुँचा। SDM कार्यालय गाजियाबाद ने लोनी थाने से रिपोर्ट लाने को लिखवाने का आदेश लेना था। लेकिन कार्यालय पर ताला मिला।
आज की रात बहुत बुरा फ़ंसा, पडौस में एक लडकी की शादी थी जिसमें खंजाची बनना पड गया। मैं तो घर पर आराम कर रहा था कि रात को करीब पौने आठ बजे लडकी की माताजी हमारे घर आयी और कहा कि कन्यादान सम्भालने की जिम्मेदारी आपकी है। इन्होंने इस बारे में करीब महीने भर पहले कहा तो था। लेकिन मैंने सोचा कि वैसे ही मान रखने के लिये कह रहे होंगे।
22

23

रात को नीन्द बहुत देर से आयी। कारण दोपहर बाद घर आते ही दो-तीन घन्टे सो गया था। इसलिये दोपहर बाद सोने की बात पर पुनविचार करना पडेगा।
24

आज एक आश्चर्यजनक बात हुई। कार्यालय से किसी ने डायरी वाला रजिस्ट्रर उडा दिया। दिन भर वापसी की उम्मीद लगाये रखी लेकिन निराशा हाथ लगी।

आज एक बार फ़िर गाजियाबाद SDM कार्यालय गया। कमीने स्टेनो ने कहा कि लोकसभा चुनाव परिणाम आने तक आचार सहिता लागू है उसके बाद ही शस्त्र कार्यवाही आगे हो पायेगी। उसके यह कहते ही मेरी खोपडी खराब, मैंने उसे तुरन्त कहा कि यह बात तुम 21 को नहीं बता सकते थे कम से कम मैं आज परेशान तो नहीं होता।
25

कल गुम/चोरी हुए डायरी रजिस्ट्रर की NCR कर दी गयी।
26
आज रात की ट्रेन से खजुराहो के मिथुन मूर्ति वाले मन्दिर के फ़ोटो लेने के लिये निजामुददीन से ट्रेन में बैठ खजुराहो रवाना हुआ।
27
आज सुबह से दोपहर तक खजुराहो के ढेर सारे मन्दिर देखने के लिये एक ऑटो वाले से सौदा किया, खजुराहो से दोपहर में झांसी के लिये चलने वाली लोकल ट्रेन में सवार होकर शाम तक ओरछा पहुँच गया।
28
आज दोपहर तक ओरछा घूमने के बाद ऑटो से झांसी पहुँचकर रानी का किला देखा। रात्रि वाली ट्रेन से दिल्ली प्रस्थान कर दिया गया। इन सभी स्थलों की यात्राओं का विवरण समय मिलते ही बताया जायेगा।

29

आज सुबह झांसी से घर पहुँचा। नहा-धोकर कार्यालय जाने लगा तो माताजी बोली, मुझे अपने मामा के यहाँ छोडते हुए जाना। माताजी को मामा के घर छोडकर कार्यालय पहुँच गया। ज्यादा अवकाश नहीं किये जा सकते है। अगले सप्ताह हिमालय में एक कठिन (ना सोने का ठिकाना ना खाने का पता) मानी जाने वाली भक्तिमय (मेरा भक्ति का कोई उद्देश्य नहीं है) ट्रेकिंग पर जाना है।

30

कार्यालय में कर्मचारियों का वेतन ऑन लाइन बनाते सारा समय बीत गया।

4 टिप्‍पणियां:

Ritesh Gupta ने कहा…

संदीप भाई...आपकी डायरी अच्छी लगी... :)

pradeep sharma ने कहा…

Bhai! Angrezi me arjun devji ki spelling sahi kariye

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

badhiya ram kahani likh di.

SANDEEP PANWAR ने कहा…

प्रदीप भाई धन्यवाद, स्पेलिंग सही कर दी गयी है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...